महाविद्यालय की शिक्षिका संदिग्ध परिस्थितियों में फांसी पर झूली, हुई मौत।

बीरेंद्र सिंह सेंगर

औरैया। सदर कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत शुक्रवार की दोपहर एक निजी महाविद्यालय में पढ़ाने वाली शिक्षिका ने संदिग्ध परिस्थितियों में अपने घर के लगे दरवाजे की चौखट में दुपट्टे से फंदा लगाकर फांसी लगा ली। जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। जब इसकी जानकारी बच्चों ने शोरगुल करके मोहल्ले के अन्य लोगों को दी तो उन्होंने कड़ी मशक्कत के बाद दरवाजे को खोला और जानकारी पुलिस को दी। सूचना पाकर पहुंचे सीओ सिटी ने मामले की जानकारी की तथा अमरीका के बच्चों से पूछताछ भी की।

मोहल्ला गोविंद नगर निवासी वर्षा बाजपेई पत्नी ओमजी बाजपेई एक महाविद्यालय में शिक्षिका के पद पर कार्यरत हैं। शुक्रवार की दोपहर उन्होंने किन्ही कारणों से तंग आकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। जब इसकी जानकारी पास पड़ोस के लोगों को हुई तो उन्होंने यह जानकारी मृतका के पति व उसके सास ससुर को दी। मोहल्ले के लोगों द्वारा बताया कि वर्षा का पति ओम जी बाजपेई अपनी मां की दवा लेने के लिए पिता के साथ व अपने बड़े पुत्र प्रणव को लेकर कानपुर गया हुआ था। कानपुर में ही उसे सूचना मिली कि उसकी पत्नी वर्षा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। इस पर वह लोग आनन-फानन में औरैया आए जहां पर पहले से मौजूद पुलिस बल जानकारी करने में जुटी हुई थी। घटना की सूचना पर पहुंचे सीओ सिटी सुरेंद्रनाथ ने मृतका के जुड़वा बच्चों से जानकारी हासिल की तो बच्चों ने बताया कि उन्हें मम्मी ने टीवी देखने के लिए नीचे भेज दिया था और कहा था कि यदि वह ऊपर आए तो उनकी पिटाई लगाएगी। बताते चलें कि मृतका वर्षा का मायका अजीतमल कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत है और उसका पति ओम जी बाजपेई मुढ़ी के एक इंटर कॉलेज में लेक्चरर के पद पर तैनात है। मृतका के 1 पुत्र 8 वर्ष एवं जुड़वा पुत्र व पुत्री जो 5 वर्ष है। पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेते हुए फॉरेंसिक टीम द्वारा जांच कराई व शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। समाचार लिखे जाने तक मृतका के मायके पक्ष का कोई भी व्यक्ति नहीं आ सका था।

संपादक संतोष कुमार निरंजन।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *