उत्तरप्रदेश उरई कोंच जालौन

पाँच वर्षीय बच्ची के साथ दुष्कर्म की कोशिश।

  • क्या उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था एकदम पटरी से उतर गई है,क्या अपराधियों को कानों का भय नही रह गया है?अभी अलीगढ़ के ट्विंकल शर्मा का मामला ठंडा भी नही पड़ा था कि कोंच में शनिवार को कस्बे के आराजी लेन इलाके में सुबह सबेरे एक दरिंदा घर में घुस कर पांच साल की मासूम को उठा कर आबादी से दूर एक खेत में ले गया। जब बच्ची रोई चिल्लाई तो उस बहशी ने मुंह में चारा ठूंस कर अपनी कमीज से उसका मुंह बांध दिया। बहशी दरिंदा दुष्कर्म का प्रयास कर पाता इससे पहले ही वहां किसी के आने की आहट हुई और वह मासूम को वहीं खेत में छोड़ कर भाग गया। बच्ची के पिता ने कोतवाली में तहरीर दे दी है। पुलिस ने मौके का निरीक्षण भी किया है और बच्ची का चिकित्सीय परीक्षण करा कर एफआईआर दर्ज करने की बात कह रही है।
    मासूमों के प्रति यौन अपराधों की लगातार घट रहीं घटनाओं को लेकर सूबे की सरकार कितनी चिंतित है या कानून व्यवस्था की स्थिति कितनी खराब कही जा सकती है, यह तो नहीं पता लेकिन इस तरह की घटनाओं ने आम आदमी के माथे पर चिंता की लकीरें जरूर गहरी कर दी हैं और वे अपने बच्चों को लेकर भयभीत भी हैं कि कब किसकी बुरी नजर उनके घरों में पड़ जाए। मिली जानकारी के मुताबिक शनिवार की सुबह लगभग पांच चार बजे कस्बे के आराजी लेन इलाके का रहने बाले एक परिवार में पांच साल की मासूम अपनी मां के बगल में लेटी सो रही थी जबकि उसका पिता शौच क्रिया के लिए बाहर गया था। जब पिता लौट कर घर आया तो उसकी बेटी पत्नी के पास नहीं मिली। उसने पत्नी से उसके बारे में पूछा तो वह भी हड़बड़ा गई कि आखिर इतनी सुबह बच्ची कहां जा सकती है। बच्ची की खोजबीन शुरू हुई तो आबादी से थोड़ी दूर एक खेत में वह पड़ी मिल गई, उसका मुंह में चारा ठुंसा था और सूजा हुआ था। जब मां-बाप ने उससे पूछा कि वह खेत में कैसे पहुंची तो उसने रो रोकर बताया कि एक आदमी घर में घुस आया और उसका मुंह दबा कर उसे उठा ले गया। जब वह चिल्लाई तो उस आदमी ने मुंह में चारा ठूंस कर अपनी कमीज से उसका मुंह बांध दिया था। तभी किसी के आने की आहट सुन कर वह अपनी कमीज निकाल कर उसे वहीं छोड़ कर भाग गया। बच्ची फिलहाल उस बहशी दरिंदे को पहचान नहीं पाई है लिहाजा पिता ने पूरे घटनाक्रम का उल्लेख करते हुए अज्ञात के खिलाफ कोतवाली में तहरीर दे दी है। पुलिस ने मौके का निरीक्षण कर लिया है और बच्ची का चिकित्सीय परीक्षण करा कर एफआईआर लिखने की बात कह रही है।
    संतोष कुमार निरंजन
    संपादक आजतक मीडिया।
aajtakmedia
संपादक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *