Uncategorized

लखनऊ एसएसपी कलानिधि नैथानी के आदेशो की धज्जियां उड़ाते एसएचओ प्रदीप कुमार।

महिला को निर्वस्त्र करने की की गई कोशिश पुलिस 10 दिनों से रही है दौड़ा।

आपको बताते चले कि मामला दिनांक 7/6/19 का है।
राजधानी लखनऊ के थाना कृष्णा नगर अंतर्गत मालती नाम की महिला को 10 दिन पहले कुछ दबंग लोगों के द्वारा निर्वस्त्र करने तथा पीड़िता को जान से मारने की कोशिस कि गई। पीड़िता अपनी शिकायत लेकर थाना कृष्णा नगर व संबंधित चौकी पर कई बार गई किंतु पीड़िता की कोई सुनवाई नहीं हुई और इस घटना को अंजाम देने वाले लोग अभी तक खुलेआम घूम रहे हैं। जिससे आहत महिला काफी परेशान है पीड़िता के मुताबिक इस घटना को अंजाम देने में तेज सिंह बबलू सिंह संसारवती के अलावा 6 से 7 अज्ञात लोग शामिल है। पीड़िता किसी तरह वहाँ से अपनी जान बचा कर भाग निकली इस घटना के दौरान तेज सिंह ने महिला के कुर्ते में हाथ डाल कर 100 रुपए भी निकाल लिए घटना की जानकारी पीड़िता ने डॉयल 100 नंबर पुलिस को दी मोके पर पुलिस आई और पीड़िता से कहा कि आप इस मामले की शिकायत थाना कृष्णा नगर में करें पीड़िता अपनी फरियाद लेकर कई बार चौकी व थाना कृष्णा नगर गई लेकिन विपक्षी प्रभावशाली होने के कारण पीड़िता की शिकायत दर्ज नही जा रही है। जबकि महिला की प्राथमिकी हर हाल में दर्ज होनी चाहिए लेकिन पुलिस ऐसा न करके उसे रोज-रोज थाने बुलाकर वापस कर देती है। जहां एक तरफ योगी जी की सरकार में महिलाओं की सुरक्षा की गारंटी की बात करती है वही राजधानी लखनऊ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के आदेशो को सीओ कृष्णा नगर व एसएचओ प्रदीप कुमार मानने को तैयार नहीं तभी आज तक इतनी गंभीर घटना की शिकायत तक नहीं दर्ज की गई ऐसे में पुलिस की लापरवाही सामने आ रही है और पीड़ित महिला अपनी शिकायत दर्ज कराने के लिए थाना कृष्णा नगर के चक्कर लगाने को मजबूर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *