[t4b-ticker]
Top News उत्तरप्रदेश औरैया

मौसम बदलते ही सिंदूर के वृक्षों में सिंदूर के फल लगना हुए शुरू।

संपादक  – संतोष कुमार निरंजन।

जनपद औरैया की एकमात्र बिश्नोई पौधशाला बिरूनी भी के पुर में पाए जाते हैं अनेकों दुर्लभ वृक्ष।

औरैया यूपी।
जनपद की सुप्रसिद्ध पौधशाला व नर्सरी बिश्नोई पौधशाला जो भीखेपुर और बिरूहनी के पास में अटसू रोड पर स्थित है उस में अनेकों पर प्रजातियों के दुर्लभ वृक्षों की भरमार है इसके संस्थापक वरिष्ठ
पर्यावरणविद् और पत्रकार स्वर्गीय श्री भगवत स्वरूप बिश्नोई की पौधशाला में अनेकों प्रकार की दुर्लभ प्रजातियों के पौधों को यहां पर विकसित किया गया है जिसके लिए उनको देश में अनेकों पुरस्कार से सम्मानित किया गया जिसमें यहां लीची पैदा करने के लिए उन को भारत के राष्ट्रपति ने पुरस्कार से नवाजा था।
बताते चलें कि उनकी पौधशाला में कई प्रकार के चंदन लीची सेव आडू रुद्राक्ष इलायची लौंग और तरह-तरह की जड़ी बूटियों के पौधों की भरमार है जिसके लिए यहां का मौसम उलट है फिर भी यह नर्सरी पूरे क्षेत्र जनपद और प्रदेश में प्रसिद्ध है जहां पर दूर दराज से लोगों का पौधों और बड़ों को लेने के लिए लगातार आना बना रहता है।
उनके पुत्र इंजीनियर पर्यावरणविद् श्री प्रशांत बिश्नोई बताते हैं कि इस पौधशाला को आगे आने वालों दिनो में देश में एक अलग पहचान दिलवाने के लिए मैं सतत प्रयासरत हूं।

वीरेंद्र सिंह सेंगर।

Related posts

पीड़ित सर्राफा व्यापारी ने पुलिस अधीक्षक को दिया ज्ञापन।

aajtakmedia

सरकारी राशन वितरण प्रणाली की दुकान निलंबित होने के बावजूद, किसकी शह पर बाँट रहा है कोटेदार राशन।

aajtakmedia

15 जिला कारागार अधिकारियों के हुये तबादले।

aajtakmedia

Leave a Comment