[t4b-ticker]
उत्तरप्रदेश कालपी जालौन

कालपी – शिवालयों मे उमड़ती है शिवभक्तों की भीड़।

संपादक – संतोष कुमार निरंजन

कालपी (जालौन) धर्मनगरी कालपी के प्राचीन शिवालयों का धार्मिक महत्त्व है। महा शिवरात्रि पर्व को मद्देनज़र रखकर शिव मंदिरो मे भक्तो की भीड़ दिनोदिन बढ़ती जा रही है।

स्थानीय नगर यमुना नदी के तट मे स्थित पातालेश्वर मंदिर, वानेश्वर मंदिर, धोड़ेश्वर मंदिर, लुड़केश्वर मंदिर सहित आधा दर्ज़न से अधिक शिवालय है। धार्मिक महत्त्व को लेकर शिव भक्तो के द्वारा प्रतिदिन मंदिरो मे आस्था स्वरूप पूजा अर्चना की जाती है। प्राचीन पातालेश्वर मंदिर के प्रबंधक एवं मुख्य पुजारी पंडित वीरेंद्र पाठक ने बताया कि पातालेश्वर मंदिर के प्रांगण मे अति प्राचीन नागराज कर्कोटक का स्थान है। यह पृथ्वी के मध्य शेषनाग जी के मस्तक पर स्थित है। शेषावतार श्री बलराम जी यहाँ पधारे थे। राजा नल के इसी स्थान मे आने पर नागराज कर्कोटक कि कृपा से उनकी विपत्ति दूर होने का मार्ग निकला था। इस स्थान पर हज़ारो वर्ष आयु के सर्प है। सौभाग्य से दर्शन मिलने पर दूर से प्रणाम करें, छेडे नहीं। नागपंचमी के दिन पूजा -अर्चना हेतु हज़ारो भक्त आते है। इस स्थान पर पांच नागराजो के नाम लेने पर नाग देवता की कृपा से यश, लक्ष्मी, कीर्ति, सुख, शांति की प्राप्ति एवं परिवार मे नागो से कोई भय नहीं रखता है।

Related posts

सविता एवं सेन समाज ने जन नायक कर्पूरी ठाकुर की जयंती समारोह को धूमधाम से मनाया।

aajtakmedia

चौकी इंचार्ज ने संभाला पद, गिनाई प्राथमिकताएं।

aajtakmedia

नग्न अवस्था मे घर में युवक का शव मिलने से फैली सनसनी।

aajtakmedia

Leave a Comment