[t4b-ticker]
Top News उत्तरप्रदेश औरैया

चंबल वैली पंचनद धाम क्षेत्र के गांवों में आज भी चल रही है होली में फागों की पुरानी परंपरा।

संपादक – संतोष कुमार निरंजन

औरैया (यूपी) औरैया जनपद के पांच नदियों के संगम पंचनद धाम चंबल वैली क्षेत्र के ग्रामों में आज भी होलिका दहन के बाद रंगोत्सव पर घर जाकर क्षेत्रीय गीतों (फागों) का प्रचलन जारी है जबकि अधिकांश जगहों पर रंगोत्सव और फागों का प्रचलन बिल्कुल बंद हो चुका है जबकि इस क्षेत्र के कुछ ग्रामों में आज भी उसी उत्साह के साथ फागुन के साथ रंगोत्सव का दौर जारी रहता है।
‌ बताते चलें की फागों का उत्सव और रंग उत्सव के अवसर पर ग्राम जुहीखा में सभी लोगों ने अपने गांव की संयुक्त रूप से रखी गई होली का होलिका दहन करके आज धूल उड़ाकर धूलंडी के साथ शुरू किया इसके बाद रंगोत्सव के लिए दरवाजे दरवाजे पर क्षेत्रीय भाषाओं में फागों के गीत गाते हुए रंग उत्सव जारी है यह पहल इस क्षेत्र के लिए ही नहीं अपितु पूरे देश में जहां पुराने समय में हमेशा हर जगह दौर शुरू हो गया है लेकिन आजकल की सभ्यता इस आयोजन में लगने वाले चार चांद के रूप में जिस तरीके से माहौल को घृणित करने की कोशिश करते हैं और इस पुरातत्व त्यौहार को बुरी तरीके से कलंकित कर ग्रसित कर रखा है जिसके फलस्वरूप आज हर जगह यह त्यौहार फागों के द्वारा जहां ढोलक की थाप मंजीरों की खनखनाहट और झीकों की झनझनाहट पर लोग थिरकते थे आज वहीं ऐसे आयोजन देखने के लिए लोग अब तरसते हैं और अब ऐसे आयोजनों को हमेशा सुचारू रूप से चलाए जाने के लिए लोगों में फैली नफरत घृणा को दूर करना होगा जिसका असर आज के त्योहारों पर पड़ रहा है और हर हिंदू त्यौहार जिस तरीके से दूषित हो रहे हैं इस घृणित मानसिकता भरे माहौल से इन त्योहारों को दूर रखना होगा तभी हमारी सनातन परंपरा बरकरार रहेगी।

वीरेंद्र सिंह सेंगर की खास रिपोर्ट।

Related posts

ट्रैक्टर चालक ने बाइक सवार को मारी टक्कर, घायल को छोड़कर हुआ मौके से फरार।

aajtakmedia

नाना के घर से सोलह वर्षीय युवक हुआ लापता।

aajtakmedia

कुँवर पैलेस में प्रधान संगठन की नवीन कार्यकारिणी का हुआ गठन।

aajtakmedia

Leave a Comment