[t4b-ticker]
उत्तरप्रदेश कालपी जालौन

8 वर्षीय हम्माद ने पहला रोजा रखकर मुल्क की खुशहाली एवं सलामती की दुआयें मांगी।

 

कालपी (जालौन) पवित्र माह ए रमजान के मुबारक अवसर पर नगर के मुहल्ला रामचबूतरा निवासी प्राचीन बडी मस्जिद के पेश इमाम के 8 वर्षीय पुत्र हम्माद अंसारी ने पहला रोजा रखा।रोजा इफ्तार पार्टी के अवसर पर इस्लामिक विद्वानों एवं रोजदारों ने हम्माद अंसारी को फूल मालाओं को पहना कर तथा तोहफे देकर सम्मानित किया।
स्थानीय मुहल्ला रामचबूतरा मे निज आवास में आयोजित रोजा इफ्तार कार्यक्रम में विचार प्रकट करते हुये पेश इमाम हाफिज इरशाद अशरफी ने कहा कि
रमजान शरीफ का ये मुकद्दस बा बरकत महीना है। जिसमें तमाम गुनहगारों के गुनाहों की माफ कर दिया जाते है। और अल्लाह की राह में जो लोग अपने माल से गरीब, मज़लूम, बेसहारा लोगों की मदद करते हैं उन्हें अल्लाह और तरक्की अता करता है। इमाम हाफिज इरशाद अशरफी के 8 वर्षीय पुत्र हम्माद अंसारी ने अपनी जिद और लगन से पहला रोजा रखा। और पूरे दिन रोजा रखने की खुशी में हम्माद ने अपने रब परवरदिगार से नमाज पढ़कर दुआ की कि या अल्लाह मेरे मासूम चेहरे को देखकर मेरी दुआ कुबूल फरमा और आज ये हर तरफ कोरोना बीमारी का कहर जो फैला है इसे हमेशा के लिए खत्म फ़रमा दे। हम्माद के दादा हाजी नजर मोहम्मद ने बताया कि हम्माद कई दिनों से जिद कर रहा था कि हम इस रमजान में रोजा रखेंगे तो आज उसने रोजा रखकर सबको खुश कर दिया। मुहम्मद उमर(पप्पू) और  मुहम्मद अन्सार ने इस खुशी में तमाम लोगों को घर बुलाकर रोजा अफ्तार कराया और सभी लोगों ने हम्माद को हार माला पहनाकर उसे तोहफे भी दिये।

 

Related posts

शांति व्यवस्था भंग करने पर चार का 151 में चालान।

aajtakmedia

अछल्दा (औरैया) में जीआरपी सिपाही के साथ हुई मारपीट।

aajtakmedia

नगर में 150 का हुआ वैक्सीनेशन 13 ग्रामों में कैंप लगाकर हुआ टीकाकरण।

aajtakmedia

Leave a Comment