[t4b-ticker]
उत्तरप्रदेश कालपी जालौन

50 फीसदी भी नही हो सका नाला सफाई का कार्य, वरसात में कई मुहल्ले डूबने की आशंका।

 

कालपी(जालौन) नगर पालिका परिषद के द्वारा चलाये गए नाला सफाई कार्य करने की मियाद 15 जून को खत्म हो गयी लेकिन 50 फीसदी से भी ज्यादा नाले नालियों की सफाई न होने से पानी की बजह से वरसात में कई मुहल्ले मब जलभराव होने की आशंकाएं बढ़ गयी है।
विदित हो कि शासन की मंशा के अनुरूप कालपी नगर में जल निकासी के लिए तीन मेन नाले है जो वरसात में पानी मे उफनाने लगते है इसी को मद्देनजर रखकर 15 जून तक नाले नालियों की सफाई का अभियान चलाया गया था। रामगंज बजरिया के मेन नाले में अभी तक साफ सफाई नही हुई है। मात्र 2-3 फुट की ऊँचाई तक लवालब कीचड़ भरा हुआ है। क्षेत्रीय नागरिकों ने बताया कि नाले की सिल्ट सफाई न होने से मुहल्ले में जलभराव होने कि आशंका है। इसी प्रकार रामचबूतरा नई बस्ती की मेन नाले की पर्याप्त सफाई नही हुई है।जल निकासी न हो पाने के कारण वस्ती हमेशा पानी मे डूब जाती है। इसी प्रकार जुल्हाइटी की सड़क के दोनों तरफ के नाले के ऊपर पक्के छज्जे तथा स्थाई निर्माण होने से नालो में न श्रमिक पहुच पाते है और न ही कोई मसीन घुसती है फलस्वरूप नालो में सिल्ट अभी तक साफ नही हो सकी है। जानकार सूत्र बताते है कि नाले में 50 फीसदी से कम सफाई होने से समस्या ज्यो की त्यों बनी हुई है। हालातो को देखकर जुल्हाइटी,नई बस्ती आदि मुहल्लों में जलभराव के हालात उत्पन्न होने की आशंका है। अधिशासी अधिकारी सुशील कुमार दोहरे ने बताया कि अभियान के तहत पालिका कर्मचारियों के द्वारा नाले नालियों की सफाई कराई जा रही है। जहाँ भी नाला सफाई नही हुई है उसे पूरा कराया जाएगा।

 

Related posts

सरकारी राशन वितरण प्रणाली की दुकान निलंबित होने के बावजूद, किसकी शह पर बाँट रहा है कोटेदार राशन।

aajtakmedia

कुकर्मी लेखपाल की बढ़ी मुश्किल, एक और पीड़ित ने पंजीकृत करवाया मामला।

aajtakmedia

किसानो की विभिन्न मांगों को लेकर जन अधिकार पार्टी ने सौंपा उपजिलाधिकारी को ज्ञापन।

aajtakmedia

Leave a Comment