[t4b-ticker]
Top News उत्तरप्रदेश औरैया

भूगर्भ जल के स्तर का नीचे गिरना खतरे का संकेत ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों ने हैंड पाइप छोड़ कुओं की सफाई कर पानी के लिए बनाया सहारा

 

बिना किसी प्रोटोकोल और सुरक्षा के कुएं के अंदर जाना, इंसानियत के लिए कुएं में जहरीली गैस होने से हो सकते हैं बड़े हादसे।

वीरेंद्र सिंह सेंगर।

चंबल वैली औरैया। देश में जिस प्रकार आज भूगर्भ जल का स्तर नीचे गिरता जा रहा है जिससे मानव जीवन खतरे में पड़ता नजर आ रहा है और जिस प्रकार दिन पर दिन जल स्रोतों में कमी देखी जा रही है उससे लग रहा है कि विश्व बिरादरी कहीं ना कहीं खतरे के संकेतों को देख रही है।

बताते चलें कि ग्रामीण क्षेत्रों में जल स्रोतों विशेष रुप से सरकारों द्वारा लगाई गई हैंड पाइप का जल स्तर लगातार नीचे गिर रहा है और नाकामयाब हो रहे हैं जिससे लोगों में पानी की समस्या को खतरे को देखते हुए ग्रामीण इलाकों में लोगों ने पुराने पड़े कुओं को साफ सफाई अपने स्तर से कर उसके पानी को पीने योग्य बनाने का सिलसिला चल रहा है जिससे लोगों का अचानक हुए में अंदर जाकर सफाई करने का जो कार्य होता है उससे भी लोगों के जीवन को खतरा बना हुआ है क्योंकि अचानक किसी भी पुराने कुएं पड़े होने से जहरीली गैस बन जाती है और लोगों को त्रासदी का सामना करना पड़ता है, क्योंकि पुराने पड़े कुओं में अक्सर गैस बन जाती है और कुएं में अंदर जाने पर बड़ी त्रासदी हो जाती है ऐसे कई मामले संज्ञान में भी आये हैं इस पर सरकार को तुरंत ध्यान देना होगा ग्रामीण इलाकों के जल स्रोतों को पंचायत स्तर पर साफ सफाई कर उनको प्रयोग में ले आने का प्रयास करना चाहिए क्योंकि विगत अनेक वर्षों से ग्रामीण क्षेत्रों में पंचायत स्तर पर बनीं सरकारों ने इस ओर कभी भी कोई ध्यान नहीं दिया जिससे जल संकट गहराता जा रहा है, और कुओं की मरम्मत और रखरखाव के लिए सरकार द्वारा मद भी जारी किया जाता है।

Related posts

बाज़ार में बढ़ी यूरिया की किल्लत, किसान ओवररेट में खरीदने के लिए मजबूर।

aajtakmedia

पानी की टंकी की मैन सप्लाई लाइन फटने से पानी के लिए मचा हाहाकार।

aajtakmedia

थाना दिवस में आई चार शिकायतों में से एक शिकायत का मौके पर निस्तारण।

aajtakmedia

Leave a Comment