Top News उत्तरप्रदेश औरैया

एक साथ उठी मामा भांजी की अर्थी रोक न सका कोई आंसू

अजीतमल (औरैया)। भोगनीपुर प्रखंड नहर पर अंतिम संस्कार में गए मामा-भांजे की नहर में नहाते समय डूबने से मौत के बाद शनिवार को दोनों की एक साथ अर्थी उठी तो शव यात्रा में शामिल सभी की आंखें भर आईं। दोनों शव की एक साथ निकली अंतिम यात्रा से पूरा कस्बा शोक में डूब गया। बाद में मामा-भांजे का यमुना किनारे सिकरोड़ी घाट पर अंतिम संस्कार किया गया।

बाबरपुर कस्बा स्थित मोहल्ला नवीननगर निवासी ज्ञान चंद्र उर्फ रामू पोरवाल (43) पुत्र सत्यदेव पोरवाल के मामा अजीतमल कस्बे के आर्यनगर मोहल्ला निवासी चंद्रशेखर (65) पुत्र रामस्वरूप की शुक्रवार को हृदय गति रुकने की मौत हो गई थी। उनकी अंतिम यात्रा में शामिल होने ज्ञान चंद्र उर्फ रामू पोरवाल अजीतमल स्थित भोगनीपुर प्रखंड नहर गया था। वहां पर अंतिम संस्कार के बाद सभी लोग नहर में स्नान कर रहे थे। स्नान के दौरान मृतक चंद्रशेखर के भाई चंद्रेश पोरवाल नहर में डूबने लगे। उन्हें बचाने के लिए उनका भांजा ज्ञानचंद्र उर्फ रामू पोरवाल भी नहर में कूद गया। उन्हें बचाने के चक्कर में दोनों गहरे पानी में चल गए और डूब गए। शनिवार को यमुना के किनारे सिकरोड़ी घाट पर दोनों का अंतिम संस्कार किया गया। मामा चंद्रेश को उनके भतीजे ऋषभ और भांजे ज्ञानचंद्र उर्फ रामू पोरवाल को 14 वर्षीय पुत्र नैतिक ने मुखाग्नि दी। इसे देखकर सभी की आंखें नम हो गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *