Lifestyle कोटा राजस्थान

आर्टिकल 15 फ़िल्म का विरोध शुरू।

आजतक मीडिया  संपादक  की कलम से-
ब्राह्मणों की छवि खराब करने वाली फिल्म आर्टिकल-15 का विरोध शुरू। कोटा में बड़े प्रदर्शन के बाद प्रशासन को चेतावनी।
17 जून को राजस्थान के कोटा शहर में ब्राह्मण समुदाय के लोगों ने जोरदार प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के बाद जिला प्रशासन को ज्ञापन भी दिया गया। ज्ञापन में चेतावनी दी गई कि विवादित फिल्म आर्टिकल-15 को कोटा के सिनेमाघरों में चलाया गया तो परिणाम गंभीर होंगे। असल में इस फिल्म को ब्राह्मण समुदाय की छवि खराब करने वाला माना जा रहा है। फिल्म के अभिनेता आयुषमान खुराना ने ऐसे शब्दों का इस्तेमाल किया है जिससे ब्राह्मण समुदाय नाराज है। इस फिल्म का निर्देशन अनुराग सिन्हा ने किया है। यह फिल्म एक नाबालिग से गैंगरेप की घटना पर आधारित है। हालांकि फिल्म में घटना के बाद पीडि़ता की मनोदशा को प्रभावी तरीके से फिल्माया गया है। गांवों में होने वाले दलित अत्याचारों की घटनाओं को भी उजागर किया गया है। हालांकि ऐसी घटनाएं आए दिन अखबारों की सुर्खियां भी बनती है, लेकिन फिल्म में समुदाय विशेष पर टिप्पणी की गई है। इससे ब्राह्मण समुदाय आहत है। यह फिल्म आगामी 28 जून को रिलीज होगी। अब पूरे प्रदेश में ब्राह्मण समुदाय एकजुट हो रहा है। उल्लेखनीय है कि फिल्म पदमावती को लेकर भी राजस्थान से ही विरोध शुरू हुआ था। राजस्थान के राजपूत समुदाय ने सबसे पहले फिल्म का विरोध किया था। यहां तक जब जयपुर में फिल्म की शूटिंग हो रही थी, तब राजपूत समुदाय के युवकों ने फिल्म की यूनिट के साथ मारपीट की। फिल्म के निर्देशक संजय लीला भंसाली की भी पिटाई की गई। बाद में करणी सेना ने देशभर में विरोध प्रदर्शन किया। राजपूतों के विरोध को देखते हुए कई राज्यों ने फिल्म के प्रदर्शन पर रोक लगा दी थी। बढ़ते विरोध के कारण है कि फिल्म के नाम और संवादों में बदलाव किया गया। अब देखना है कि ब्राह्मण समुदाय का विरोध कहां तक जाता है।

क्या वास्तव मे यह फ़िल्म किसी जाति विशेष की भावनाओं को आहत करेगी यह तब पता चलेगा जब फ़िल्म 28 जून को रिलीज होगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *