उत्तरप्रदेश औरैया संक्षिप्त खबरे

औरैया जिले की पांच बड़ी खबरें।

निलंबित शिक्षकों को बहाल करने की मांग

आजतक मीडिया न्यूज़ से अनिल नीखरा

औरैया: उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ ने शिक्षकों की विभिन्न समस्याओं के निराकरण के लिए बैठक की। इसके बाद शिक्षक संघ ने मांगों से संबंधित ज्ञापन बीएसए को सौंपा और जल्द ही सभी समस्याओं के निराकरण की मांग की।
संगठन के जिलाध्यक्ष अखिलेश चंद्र यादव, जिला मंत्री अर¨वद राजपूत के नेतृत्व में ज्ञापन जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को सौंपा गया। जिसमें बेसिक शिक्षा परिषद में कार्यरत अध्यापकों के वेतन खाते किसी अन्य बैंक में स्थानांतरित करने की कार्रवाई का विरोध किया गया। निलंबित चल रहे अध्यापकों की जांच रिपोर्ट लगाकर जल्द बहाल करने की मांग की गई। मृतक आश्रित पत्रवलियों का शीघ्र निस्तारण करने, 2006 के बाद नियुक्त अध्यापक जिन्होंने एनपीएस प्रान नंबर के लिए अपने फार्म भरकर संबंधित बीआरसी पर जमा कर दिए थे लेकिन आज तक लेखा कार्यालय में न पहुंचाए जाने के कारण उन शिक्षकों को प्रान आवंटित नहीं हो पा रहा है, न ही उनकी कटौती हो रही है। फार्मों को पूर्ण करा कर तुरंत कार्यालय में भिजवाया जाए जिससे उन्हें प्रान नंबर आवंटित हो सके। वेतनमान का एरियर शीघ्र दिलाए जाने की मांग की गई। इस मौके पर दीपक दुबे, अरुण कुमार, निर्मल पांडेय सहित तमाम शिक्षक मौजूद रहे।

शराब के लिए रुपये न देने पर युवक को पीटा

शहर के भीखमपुर निवासी अजीत कुमार मोहल्ले में एक दुकान पर खड़ा था। उसी दौरान एक शराबी युवक आया और रुपये मांगने लगा। जब उसने रुपये देने से मना कर दिया तो उसने मारपीट कर घायल कर दिया। पीड़ित ने कोतवाली में मामले की तहरीर दी है।

*पुलिस ने 35 वाहनों का किया चालान*

आजतक मीडिया से अनिल नीखरा

औरैया : शुक्रवार को यातायात प्रभारी ने शहर के जालौन चौराहा व सुभाष चौराहे पर वाहन चेकिंग की। इस दौरान उन्होंने 35 चालान काटे और कई लोगों को हिदायत देते हुए छोड़ दिया।
उच्चाधिकारियों के आदेश पर वाहन चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है। शुक्रवार को एसपी सुनीति के आदेश पर शहर के जालौन व सुभाष चौराहे पर वाहन चेकिंग की गई।

इस दौरान बिना हेलमेट व कागजात के बाइक चला रहे 14 चालकों का चालान काटा गया। वहीं बगैर सीट बेल्ट के कार चला रहे पांच लोगों का चालान किया गया है। इसके अलावा डग्गामारी करने एवं ओवरलोडेड दस ऑटो चालकों का चालान किया गया। चेकिंग अभियान चलते देख बिना कागजात के वाहन चला रहे लोगों में हड़कंप मचा रहा। कई वाहन चालकों को हिदायत देते हुए छोड़ दिया गया।

साइड नहीं दी तो मजिस्ट्रेट ने उतरवा ली सिपाही की वर्दी

, आगरा : सड़क पर हॉर्न बजाने के बावजूद साइड न मिलने पर एक मजिस्ट्रेट ने शुक्रवार को अपनी अदालत में पुलिस का वज्र वाहन चलाने वाले सिपाही की वर्दी-पेटी उतरवा ली। सूचना मिलने पर कोर्ट पहुंचे क्षेत्रधिकारी ने उसे दोबारा वर्दी पहनवाई। एसएसपी ने चालक समेत मौके पर मौजूद सिपाहियों से घटना की जानकारी लेने के बाद इसकी रिपोर्ट प्रशासनिक जज और जिला जज को भेजी है।
पुलिस लाइन से वज्र वाहन लेकर शुक्रवार की सुबह कांस्टेबल चालक घूरेलाल, कांस्टेबल राजेश कुमार, आलोक भारती और मनीष कुमार जिला जेल पहुंचे थे। वहां से दो किशोरों को लेकर वे मलपुरा के सिरौली स्थित किशोर न्याय बोर्ड जा रहे थे। सुबह करीब 11 बजे वज्र वाहन ग्वालियर रोड से सिरौली जाने वाली लिंक रोड पर चल रहा था। तभी पीछे मजिस्ट्रेट की गाड़ी पहुंच गई। उनकी गाड़ी ने हॉर्न के साथ ही हूटर और सायरन भी बजाया, मगर करीब दो किमी दूरी तक उन्हें वज्र वाहन से साइड नहीं मिला। इस पर मजिस्ट्रेट को गुस्सा आ गया। अपनी कोर्ट पहुंचते ही उन्होंने वज्र वाहन के चालक घूरेलाल को तलब कर लिया। घूरेलाल का आरोप है कि मजिस्ट्रेट ने एसएसपी से बात करके नौकरी से निकलवाने की धमकी दी। इसके बाद टोपी, बेल्ट निकालकर वर्दी उतारने को कहा। डरे-सहमे घूरेलाल ने अपनी वर्दी उतार दी। अन्य पुलिसकर्मी और कोर्ट में मौजूद कर्मचारी कुछ न बोल सके। करीब तीस मिनट तक सिपाही उसी हालत में खड़ा रहा। किसी ने 11.59 बजे यूपी 100 पर कॉल करके घटना की सूचना दी। इसके बाद यूपी 100 की पीआरवी 46, चीता मोबाइल और एसओ मलपुरा महेश यादव पहुंचे। थोड़ी देर में सीओ अछनेरा नम्रता श्रीवास्तव भी पहुंचीं। तब तक मजिस्ट्रेट कोर्ट से उठ चुके थे

समस्यायो को लेकर शिक्षको ने दिया ज्ञापन

आजतक मीडिया से अनिल नीखरा
उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ ने जिला अध्यक्ष अखिलेश चंद्र यादव जिला मंत्री अरविंद राजपूत के नेतृत्व में शिक्षकों की विभिन्न समस्याओं के निस्तारण हेतु ज्ञापन जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को सौंपा जिसमें बेसिक शिक्षा परिषद में कार्यरत अध्यापकों के वेतन खाते किसी अन्य बैंक में स्थानांतरित करने की किसी भी कार्रवाही का शिक्षक संघ पूर्ण रूपेण विरोध करेगा। निलंबित चल रहे अध्यापकों की जांच रिपोर्ट लगाकर जल्दी से बहाल करने की मांग की ।मृतक आश्रित पत्रावली ओं का शीघ्र निस्तारण करने, 2006 के बाद नियुक्त अध्यापक जिन्होंने एनपीएस प्राननंबर के लिए अपने फार्म भरकर संबंधित बीआरसी पर जमा कर दिए थे। लेकिन आज तक लेखा कार्यालय में ना पहुंचाए जाने के कारण उन शिक्षकों को प्रानआवंटित नहीं हो पा रहा है ,ना ही उनकी कटौती हो रही है। फार्मो को पूर्ण करा कर तुरंत कार्यालय में भिजवाया जाए ।जिससे उन्हें प्रान नंबर आवंटित हो सके साथ में वेतनमान का एरियर शीघ्र दिलाए जाने की मांग जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी से की ,ज्ञापन देने वालों में अखिलेश चंद यादव ,अरविंद राजपूत ,दीपक दुबे, अरुण कुमार, निर्मल पांडेयआदि उपस्थित रहे।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में फांसी लगने से मौत की पुष्टि।

फफूंद: बाराबंकी के युवक का शव क्षेत्र के गोपालपुर में आम के पेड़ पर फांसी पर लटका मिला था। आधार कार्ड से पहचान हुई तो परिजन भी आ गए। शुक्रवार को आई पोस्टमार्टम रिपोर्ट में फांसी के कारण मौत होना बताया गया है। मगर सवाल अभी यह है कि आखिर यह युवक यहां कैसे आया। परिजन बिना तहरीर दिए शव ले गए हैं। पुलिस भी जांच करने के बजाय रटा रटाया जबाब दे रही है कि तहरीर मिलने पर आगे की जांच की जाएगी।
24 जुलाई को गोपालपुर गांव के बाहर बाग में आम के पेड़ पर एक युवक का शव लटक रहा था। जामुन बीनने गए बच्चों ने देखा तो गांव वालों को सूचना दी। पुलिस ने आकर पड़ताल की तो आधार कार्ड से उसकी पहचान अंकित पुत्र खुशीराम निवासी बाराबंकी के रूप में हुई। सूचना पर परिजन भी आ गए मगर परिजन यह नहीं बता पाए कि वह यहां कैसे आ गया। परिजनों का कहना है कि वह प्लंबर का काम करता था और बीते दिन फोन आने पर कहा था कि रुपये नहीं मिल रहे हैं। रुपये मिलने पर वह घर आ जाएगा। इतना कहकर उसने रोते हुए फोन काट दिया। मृतक युवक के हाथ में आई लव यू … लिखा था। उसके हाथ में जिस लड़की का नाम लिखा है वह कौन है। परिजन यह नहीं बता पाए। शुक्रवार को आई पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हैंगिग आई है। इससे आत्महत्या का ही अनुमान लगाया जा रहा है। मृतक के पास एक स्मार्ट फोन व एक की पेड फोन मिला था। कीपेड वाले में बैटरी व सिम गायब थी।
आत्महत्या भी सवालों के घेरे में : बाराबंकी के रहने वाले अंकित ने आखिर यहां आकर क्यों आत्महत्या की? अगर वह काम करने निकला था तो किसके यहां काम कर रहा था और वह लड़की कौन है? यह सवाल अभी भी बने हुए हैं। पुलिस चाहती तो पड़ताल हो सकती थी।
अंकित के फोन से कॉल डिटेल व सोशल साइट की निगरानी से पता लग सकता था कि लड़की कौन है और यहां आकर आत्महत्या का कारण क्या है। मगर पुलिस तहरीर का इंतजार कर रही है। प्रभारी निरीक्षक सुदीप मिश्र ने बताया कि मृतक के परिजन अगर तहरीर देंगे तो आगे की कार्रवाई की जाएगी।

लोडर की टक्कर से बाइक सवार घायल
आजतक मीडिया से अनिल नीखरा

फफूंद(औरैया) : नगर के मुरादगंज तिराहे पर बाजार से घर लौट रहे बाइक सवार अधेड़ को तेज रफ्तार लोडर ने टक्कर मार दी। जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। दुकानदारों ने उसे एंबुलेंस से अस्पताल में भर्ती कराया।
थाना क्षेत्र के ग्राम चिरैयापुर निवासी बृजेश तिवारी पुत्र रामपाल शुक्रवार शाम बाइक से बाजार करके गांव वापस जा रहे थे। जैसे ही वह मुरादगंज तिराहे पर पहुंचे, तभी औरैया की तरफ से आ रहे लोडर ने बाइक में टक्कर मार दी। जिससे बृजेश गंभीर रूप से घायल हो गए। लोडर चालक मौके से वाहन समेत भाग गया। घटना के तुरंत बाद दुकानदारों ने घायल को 108 एंबुलेंस से अस्पताल में भर्ती कराया।
बोलेरो की टक्कर से शिक्षिका घायल-फफूंद: दिबियापुर के मोहल्ला इंद्रानगर निवासी शिक्षिका ज्योति दीक्षित पुत्री कमलाकांत दीक्षित पतरा प्राथमिक स्कूल में शिक्षिका है। शुक्रवार को स्कूल बंद होने के बाद वह स्कूटी से घर जा रही थी। पाता की तरफ से आ रही तेज रफ्तार बोलेरो ने स्कूटी में टक्कर मार दी। जिससे वह सड़क पर गिरकर गंभीर रूप से घायल हो गई। आस पास के लोगों ने उसको सीएचसी में भर्ती कराया।

संतोष कुमार निरंजन संपादक आजतक मीडिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *