मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने किया उम्मीद परियोजना का शुभारम्भ

Mar 11, 2024 - 18:02
 0  55
मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने किया उम्मीद परियोजना का शुभारम्भ

उन्नाव, 11 मार्च, 2024 ।परिवार नियोजन की सेवाओं की पहुँच तथा गुणवत्ता को बढ़ाने के लिए मोबियस फाउंडेशन की वित्तीय सहायता से पॉपुलेशन फाउंडेशन ऑफ़ इंडिया द्वारा स्वास्थ्य विभाग के सक्रिय सहयोग से उत्तर प्रदेश के 6 जिलों के पचास प्रतिशत चयनित ब्लॉकों में उम्मीद परियोजना प्रारम्भ किया गया है।

स्वास्थ्य विभाग के तत्वावधान और मोबियस फाउंडेशन और पॉपुलेशन फाउंडेशन ऑफ इंडिया के सहयोग से सोमवार को परिवार कल्याण कार्यक्रम संबंधी उम्मीद परियोजना का शुभारंभ मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. सत्यप्रकाश ने किया । कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कहा कि साल 2011 की जनगणना के अनुसार भारत की कुल आबादी का 16 प्रतिशत आबादी उत्तर प्रदेश में रहती है और यह साल 2030 तक बढकर 19 प्रतिशत तक हो जाएगी, यानि भारत में रहने वाला लगभग हर पांचवा व्यक्ति उत्तर प्रदेश का होगा। 

बढ़ती जनसंख्या के स्थिरीकरण तथा प्रदेश के प्रत्येक नागरिक को गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवाएँ उपलब्ध कराने के लिए 11 जुलाई 2021 मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी के कुशल नेतृत्व में नई जनसंख्या नीति (2021-30) जारी की गयी थी। इस जनसंख्या नीति का मसौदा बनाने में पॉपुलेशन फाउंडेशन ऑफ़ इंडिया ने अहम भूमिका निभाई है।इसके तहत बच्चों, योग्य दंपति, गर्भवती, युवा एवं बुजुर्गों के स्वास्थ्य के लिए प्रदेश सरकार को नवाचार के माध्यम से कार्य करने की आवश्यकता है। परिवार नियोजन की सेवाओं की पहुँच तथा गुणवत्ता को बढ़ाने के लिए मोबियस फाउंडेशन की वित्तीय सहायता से पॉपुलेशन फाउंडेशन ऑफ़ इंडिया द्वारा स्वास्थ्य विभाग के सक्रिय सहयोग से उन्नाव सहित उत्तर प्रदेश के 6 जिलों के पचास प्रतिशत चयनित ब्लॉकों में उम्मीद परियोजना प्रारम्भ की गई है।

  उन्नाव में आठ ब्लॉको क्रमशः बिछिया,हसनगंज,नवाबगंज,औरास,हिलौली,बीघापुर,असोहा एवं पुरवा में यह योजना चलायी जा रही है । 

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कहा परिवार नियोजन कार्यक्रम, किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम और मातृ तथा शिशु स्वास्थ्य एक दूसरे के पूरक है। यह कार्यक्रम जनपद में परिवार नियोजन के साथ ही अन्य कार्यक्रम के उददेश्यों को भी पूरा करने में सहायक होगा। 

अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ हरिनंदन प्रसाद, ने कहा कि इस साझा कार्यक्रम से जनपद में परिवार नियोजन परामर्श और सेवाओं की पहुँच में वृद्धि होगी।

सुश्री शिल्पा नायर,राज्य निदेशक, पॉपुलेशन फाउंडेशन ऑफ़ इंडिया ने बताया कि उम्मीद परियोजना का उददेश्य जनपद में जिला अस्पतालों (डीएच), सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों (सीएचसी) और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों (पीएचसी) में परिवार नियोजन कॉर्नर की स्थापना करना, आरोग्य मंदिर और उप केंद्रों को परिवार नियोजन किट प्रदान करना,उच्च गुणवत्ता वाली सेवाएं और परामर्श के लिए स्वास्थ्य प्रदाताओं,एएनएम और आशाओं को प्रशिक्षित करना,व्यवहार परिवर्तन (एसबीसीसी) टूल और जॉब एड्स का प्रभावी ढंग से उपयोग करने के लिए उनके कौशल में सुधार करना,और समुदायों के बीच परिवार कल्याण जागरूकता और स्वीकृति बढ़ाना है।इसके साथ ही कम उम्र में विवाह, किशोर गर्भावस्था, नए तरीकों और पुरुष सहभागिता सहित गर्भनिरोधक विकल्पों के बारे में जागरूकता अभियान आयोजित करना है।

कार्यक्रम में इंतिज़ार अहमद सिद्दीकी-जिला कार्यक्रम प्रबंधक एन.एच.एम, सीएचसी अधीक्षक, अभिषेक पाठक आदि मौजूद रहे ।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow