श्री सीताराम महायज्ञ, भगवत कथा और विशाल संत समागम को लेकर निकाली कलश यात्रा

May 14, 2024 - 17:18
 0  36
श्री सीताराम महायज्ञ, भगवत कथा और विशाल संत समागम को लेकर निकाली कलश यात्रा

वीरेंद्र सिंह सेंगर 

अयाना औरैया - देश के महत्वपूर्ण तीन जनपदों औरैया, इटावा और जालौन के सीमावर्ती पांच नदियों यमुना, चंबल सिंध, पहूज और कुंवारी के पवित्र महासंगम पंचनद धाम पर स्थित अयाना क्षेत्र के यमुना तट पर स्थित ग्राम फरिहा मैं स्थित प्राचीन ऐतिहासिक एवं धार्मिक स्थल मझखरा महाराज पर होने वाले श्री सीताराम यज्ञ का आयोजन आज विधिवत भव्य कलश यात्रा के साथ शुरू हो गया है। 

बताते चलें कि ग्राम पंचायत फरिहा में आयोजित नौ दिवसीय श्रीसीताराम महायज्ञ को लेकर 202 कन्याओं महिलाओं द्वारा सोमवार को भव्य कलश शोभा यात्रा निकाली गयी। कलश शोभायात्रा यज्ञाचार्य राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित पी एच डी पंडित नर्मदा प्रसाद शास्त्री द्वारा और मझकरा बाबा जी महाराज की देख रेख में आचार्य के वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच ग्यारह यजमान आदि अपनी धर्मपत्नी के साथ पूजा-अर्चना कर सभी कन्याओं को कलश सौंपा गया जिसके बाद धूमधाम से पालकी, घोड़ा, गाजे बाजे के साथ-साथ बुंदेलखंड से चुनिंदा घोड़े को बुलाकर आयोजन को और भी भक्ति प्रदान की गई जिसमें सभी घोड़े ने अलग-अलग तरह से नृत्य कर शोभा यात्रा को बहुत ही भव्यता प्रदान की कलश शोभायात्रा यज्ञ स्थल से निकलकर पवित्र महासंगम पंचनद धाम तीर्थ क्षेत्र की सबसे पवित्र यमुना मां का जल लेकर पूरे क्षेत्र फरिहा गांव मैं शोभायात्रा का जगह-जगह लोगों ने स्टार लगाकर भव्य स्वागत किया जिसमें ठंडा जल लस्सी और शरबत का लोगों ने जमकर आनंद उठाया इसके बाद कलश यात्रा वापस यथा स्थान मझखरा महाराज मंदिर यमुना नदी से जल भर कर पुनः पहुंची जहां मंडप पूजन के बाद बेदी पूजन व द्वार पूजन किया गया। इसके बाद कलश को नौ दिनों के लिए रखा गया। नौ दिनों तक वैदिक मंत्रों उच्चारण के साथ पूजा-अर्चना किया जायेगा. 14 मई से विधिवत पूजा-अर्चना की शुरुआत हो जायेगी. तेज धूप और गर्मी के चलते रास्ते में कलश शोभयात्रा में शामिल श्रद्धालुओं का कई जगहों पर पानी शरबत आदि की व्यवस्था श्रद्धालुओं के लिए की गयी थी जिसमें ग्राम और क्षेत्र के अलावा तीनों जनपदों का विशेष सहयोग मिल रहा है, कलश शोभायात्रा में गांव के अलावा आसपास के क्षेत्र के सैकड़ों लोगों ने भाग लिया। कलश यात्रा में शामिल श्रद्धालु माथे पर जय श्रीराम, हर हर महादेव की पट्टियां लगाये हुए थे। कलश यात्रा में बैंड पार्टी के अलावा भक्ति गीतों पर श्रद्धालु भक्ति के सागर में गोता लगा रहे थे। इस दौरान पूरे यात्रा क्रम मे हर-हर महादेव और जय श्रीराम के नारों से श्रद्धालुओं ने वातावरण को गुंजायमान रहा। यज्ञ स्थल में नौ दिनों तक कथा पंडाल में माउंट आबू से आये भागवताचार्य संत शिरोमणि जगद्गुरू रामानंदाचार्य नैयायिक वैष्णवाचार्य डॉ• सियारामदास जी महाराज, रघुनाथ मंदिर रामानंद पीठ, मांऊट आबू राजस्थान के द्वारा भागवत कथा का रसास्वादन कराया जाएगा, साथ ही आयोजन में देश के नामचीन कलाकारों द्वारा एतिहासिक रामलीला का मंचन देखने के साथ साथ संपूर्ण देश से महान विद्वान संत प्रवचन और प्रकांड विद्वानों द्वारा धर्म सम्मेलन का भी आयोजन किया गया है जिसमें श्रोता कथा के साथ-साथ संतों के प्रवचनों से रूबरू होंगे कलश शोभा यात्रा में यज्ञ समिति के अध्यक्ष मझखरा बाबा महाराज और तीन जनपदों औरैया इटावा जालौन के भक्त महिला पुरुष और संतगण मौजूद रहे।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow