सास-बहू-बेटा सम्मेलन में बताए जाएंगे सीमित परिवार के लाभ

Jun 27, 2023 - 18:16
 0  43
सास-बहू-बेटा सम्मेलन में बताए जाएंगे सीमित परिवार के लाभ

हरदोई, 27 जून 2023  जनपद में मंगलवार से विश्व जनसंख्या दिवस पखवारा शुरू हो गया है | इसी क्रम में स्वास्थ्य विभाग एक बार फिर से सास-बहू-बेटा सम्मेलन के द्वारा परिवार नियोजन की पहल करने जा रहा है। यह सम्मेलन 27 जून से 10 जुलाई के मध्य स्वास्थ्य उपकेंद्रों पर आयोजित किए जाएंगे। यह जानकारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. राजेश कुमार तिवारी ने दी | उन्होंने बताया कि कार्यक्रम का उद्देश्य सास-बहू और बेटा के मध्य समन्वय और संवाद के माध्यम से परिवार नियोजन को लेकर बेहतर माहौल बनाना है जिससे वह प्रजनन स्वास्थ्य के प्रति अपनी अवधारणाओं, व्यवहार एवं विश्वास में बदलाव ला सकें। उन्होंने यह भी कहा कि अधिकांश मामलों में देखा गया है कि परिवार नियोजन को लेकर पुरुष का निर्णय सर्वोपरि होता है। इसलिए इस आयोजन में पुरुष की सहभागिता सुनिश्चित करने के लिए बेटे का प्रतिभाग करना आवश्यक है।प्रत्येक सम्मेलन में आठ से दस परिवारों से सास-बहू और बेटा को प्रतिभाग करना है। 

परिवार कल्याण कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डा. सुशील कुमार ने बताया कि सास-बेटा-बहू सम्मेलन में शादी के एक वर्ष के दौरान नव विवाहित दंपति, एक वर्ष के अंदर उच्च जोखिम वाली गर्भवती, परिवार नियोजन का कोई साधन नहीं अपनाने वाले दंपति, तीन या उससे ज्यादा बच्चों वाले दंपति, ऐसे आदर्श दंपति जिनका पहला बच्चा विवाह के दो वर्ष बाद हुआ हो दूसरे बच्चे में कम से कम तीन वर्ष का अंतराल हो। आदर्श दंपति इससम्मेलन के दौरान अपने अनुभव साझा करेंगे। दो बच्चों के बाद परिवार नियोजन का स्थाई साधन अपनाने वाले और कोई साधन न अपनाने वाले दंपति भी कार्यक्रम के दौरान अपने अनुभव साझा करेंगे। 

नोडल अधिकारी ने बताया कि सम्मेलन के दौरान गुब्बारा प्रतियोगिता के माध्यम से दंपति को परिवार नियोजन के बारे में जानकारी दी जाएगी। इस मौके पर लक्षित दंपति की काउंसलिंग कर उनको परिवार नियोजन के अस्थायी साधनों की जानकारी देते हुए बॉस्केट ऑफ च्वाइस में मौजूद साधनों से अवगत कराया जाएगा। इसके अलावा इन साधनों को अपनाने को लेकर कोई भ्रान्ति होगी तो उसे भी दूर किया जाएगा। साथ ही दंपति को परिवार नियोजन के स्थायी साधनों के बारे में भी बताया जाएगा। बीती एक वर्ष की अवधि के दौरान नव विवाहित दंपति को शगुन किट भेंट की जाएगी। सम्मेलन के आयोजन पर संबंधित आशा कार्यकर्ता को एक सौ रुपए प्रोत्साहन राशि के रूप में दिए जाएंगे।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow