अपर महानिदेशक झांसी कलानिधि नेथानी ने गिनाई प्रार्थमिकताये

Jan 9, 2024 - 08:09
 0  136
अपर महानिदेशक झांसी कलानिधि नेथानी ने गिनाई प्रार्थमिकताये

 ब्यूरो रिपोर्ट जालौन

झाँसी  दिनांक 08-01-2024 को पुलिस उपमहानिरीक्षक, झांसी परिक्षेत्र, झांसी कलानिधि नैथानी द्वारा ADG Zone महोदय से शिष्टाचार भेंट की एवं जनपद जालौन की पुलिस लाइन में एसपी जालौन एवं समस्त राजपत्रित अधिकारियों के साथ अपराध एवं अपराधियों पर नियंत्रण हेतु प्रभावी कार्ययोजना बनाकर परिक्षेत्र की कानून व्यस्था सुदृढ़ बनाये रखने हेतु जनपद विस्तृत चर्चा की गयी जिसमें महिला सम्बन्धी अपराधों, शीतकालीन ऋतु में घटित होने वाले अपराधों, विभिन्न संगीन अपराधों, सम्पत्ति सम्बन्धी अपराधों आदि पर अंकुश लगाने एवं शान्ति एवं कानून व्यवस्था बनाये रखने हेतु आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गये। समीक्षा बैठक में प्रमुख रूप से निम्नलिखित बिन्दुओं पर समीक्षा की गयी।

 मुख्य बिंदु:- गोकशी डकैती एवं व्यापारियों के साथ लूट मिशन लिफ्ट* पिछले 10 साल में जितने भी अपराधी हैं उनकी हिस्ट्री सेट खोलकर गुंडा गैंगस्टर आदि की कार्रवाई करते हुए तगड़ी निगरानी करने के आदेश दिए

 परिवार परामर्श हेतु फार्म थानों पर वितरित कर दिए जाएं जिससे महिलाओं को मुख्यालय तक न आना पड़े, वह थाने पर ही फॉर्म देकर के प्रक्रिया प्रारंभ कर सकें और उन्हें भटकना न पड़े।

 पीआरबी पर नियुक्त कर्मी को तीन माह तक एक थाने, 6 माह तक एक सर्कल रहने दिया जाए, उससे अधिक कदापी ना रहने दिए जाएं तथा किसी थाने पर रिपोस्ट न किया जाए

चार माह से अधिक *लापता बच्चों* की विवेचना ahtu एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट के माध्यम से कराई जाए तथा उनके लिए टीम गठित की जाए

लोकसभा चुनाव संबंधी निर्देश अनुसार इंस्पेक्टर के अलावा दरोगाओं का भी नियम अनुसार कार्यक्षेत्र बदल दिया जाए

बेहतर यातायात हेतु अतिरिक्त शिफ्ट लगाते हुए रात्रि 12:00 बजे तक प्रमुख चौराहों पर यातायात की ड्यूटी लगा दी जाए

प्रत्येक थाने पर कम से कम एक एएसआई जरूर रहे और कोतवाली के थाने पर एक अतिरिक्त प्रभारी निरीक्षक जरूर रहे जो अन्य जिम्मेदारियां के साथ-साथ थाने के अभिलेख भी अपडेट करें और सूचनाओं का प्रेषण समय से करवाना सुनिश्चित करें ।

माननीय न्यायालय द्वारा जारी आदेश जैसे कि शमन , वारंट आदि के लिए अलग से रजिस्टर बनवाकर पूरे जनपद के इंद्राज उसमें करें और कम तामीला करने वाले निरीक्षक /थानाध्यक्ष को शुक्रवार परेड में बुलाएं।

सभी चौकी इंचार्ज को (सी यू जी ) उपलब्ध करवाए जिससे संचार व्यवस्था में तेजी आए तथा इंटरनेट सुविधा से ई चालान में भी बढ़ोतरी आए

 गैंग और माफिया को चिन्हित कर पंजीकरण करवाये तत्पश्चात जेल भेजे और सम्पत्ति कुर्क करें।

जो टीम गुड वर्क करें उसे उचित पुरस्कृत करें इसी क्रम में हाल फिलहाल में कई कुंटल गांजा बरामद करने वाली टीम को पुलिस उपमहानिरीक्षक द्वारा 25000 का इनाम देने की घोषणा की गई।

 अन्य बिंदु:-

1- *लूट / चैन स्नैचिंक अपराधी सत्यापन* - डीआईजी झॉसी द्वारा बताया गया कि विगत 03 वर्षों में परिक्षेत्र के जनपदों में लूट / चैन स्नैचिंग के अपराधों में नामित / प्रकाश में आये अभियुक्तों के सत्यापन कराया जाये। जो अभियुक्त अपराधों में संलिप्त पाये जाते हैं उनके विरूद्ध नियमानुसार कार्यवाही करते हुये गुण्डा / गैंगस्टर / एन0एस0ए0 के अन्तर्गत निरोधात्मक कार्यवाही भी सुनिश्चित की जाये।

2- *गौ-वध/गौ-तस्करी* के अपराधों में विगत वर्षों में संलिप्त अपराधियों के सत्यापन हेतु अभियान चलाया जाये । शत-प्रतिशत अपराधियों का सत्यापन करने के साथ साथ एचएस खोलने, गैंगस्टर अधि० तथा धारा 14 (1) गैंगस्टर एक्ट के अन्तर्गत सम्पत्ति जब्तीकरण की कार्यवाही किये जाने हेतु जनपद प्रभारी को निर्देशित किया गया।

3- *लूट / डकैती / हत्या अपराधी सत्यापन* - डीआईजी झॉसी द्वारा समीक्षा गोष्ठी के दौरान जनपद प्रभारी को बताया गया कि विगत 10 वर्षो में घटित हत्या लूट, डकैती के अपराधों में संलप्ति नामित / प्रकाश में आये अपराधियों का शतप्रतिशत सत्यापन करा लिया जाये जो अपराधी अपराधों में संलिप्त पाये जाते हैं उनके विरूद्ध नियमानुसार गैंगस्टर, गुण्डा, एन0एस0ए0 के अन्तर्गत कार्यवाही करते हुये धारा-14 (1) गैंगस्टर के अन्तर्गत कार्यवाही कर अवैध रूप में अर्जित की गयी सम्पत्ति का विभिन्न श्रोतों से पता लगाकर सम्पत्ति जब्तीकरण की कार्यवाही की जाये तथा ऐसे अपराधियों की हिस्ट्रीशीट खोलकर निगरानी की जाये। 4- *अवैध/अपमिश्रत/नकली / जहरीली शराब के विरूद्ध कार्यवाही* - डीआईजी झॉसी ने बताया कि जनपद में अवैध रूप से जहरीली शराब के सम्बन्ध में अभियान चलाकर कार्यवाही की जाये जो अपराधी अवैध / जहरीली शराब के निर्माण / बिक्री तथा परिवहन में संलिप्त पाये जाते हैं उनके विरूद्ध नियमानुसार अभियोग दर्ज कर गुण्डा / गैंगस्टर अधिनियम के अन्तर्गत निरोधात्मक कार्यवाही करते हुये सम्पत्ति जब्तीकरण के अतिरिक्त अवैध रूप से परिवहन में लगे वाहनों की भी जब्तीकरण की कार्यवाही की जाये 5- *मादक पदार्थों की बरामदगी* - डीआईजी झॉसी द्वारा गोष्ठी के दौरान बताया गया कि जनपद में पान की दुकान, ढाबे,आउटर क्षेत्र, रेस्ट्रोरेंट, पार्कों के समीप, आइसक्रीम पार्लर,रेलवे / बस स्टैण्ड, पर्यटक स्थलों तथा विद्यालयों आदि के आस-पास चैकिंग कराकर मादक पदार्थों की बिक्री एंव परिवहन में संलिप्त अधराधियों के विरूद्ध अधिक से अधिक कार्यवाही कराकर मादक पदार्थों की बरामदगी की जाये तथा ऐसे अपराधियों के विरूद्ध गैंगस्टर अधिनियम के अन्तर्गत कार्यवाही कर सम्पत्ति जब्तीकरण की भी कार्यवाही की जायें ।

6- *सड़क सुरक्षा पखवाड़ा* - डीआईजी झॉसी द्वारा बताया गया प्रत्येक दिन सभी विद्यालयों में प्रार्थनासभा में छात्रों को सड़क सुरक्षा एंव यातायात नियमों की जानकारी देने के साथ ही सडक सुरक्षा यातायात नियमों के सम्बन्ध में चौराहों / नुक्कड़ों पर जागरूकता लाने हेतु यातायात जागरूकता कार्यक्रम चलाया जाए तथा उसका सोशल मीडिया के माध्यम से अनिवार्य रूप से प्रचार-प्रसार किया जाये साथ ही सर्दियों में कोहरे के कारण होने वाली दुर्घटनाओं को रोकने हेतु समस्त व्यावसायिक वाहनों / ट्रेक्टर-ट्रालियों के पीछे रिफ्लेक्टिव टेप/बैक लाइट / फॉग लाइटें मानक के अनुरूप लगे होने एंव उनकी क्रियाशीलता को भी चैक किया जाये। सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाये जाने हेतु ओवरलोड वाहनों, स्टंट करने वालों, थ्री पैसेंजर, ड्रिंक एण्ड ड्राइव के साथ ही साथ प्रेशर हॉर्न व तेज गति से वाहन चलाने वालों के विरूद्ध मोटर वाहन अधिनियम के अन्तर्गत वैधानिक कार्यवाही सुनिश्चित की जाये तथा वाहन चलाते समय दुपहिया वाहनों में हेलमेट व चार पहिया वाहनों में सीट बेल्ट का प्रयोग किये जाने एवं यातायात नियमों का पालन करने हेतु जागरूक किया जाये ।

7- डीआईजी झॉसी द्वारा *महिला सम्बन्धी अपराधों, पाक्सो एक्ट एवं एससी / एसटी* के मामलो में की गयी कार्यवाही की समीक्षा के उपरान्त अभियुक्तों के विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही किये जाने हेतु निर्देशित किया गया। महिला सम्बन्धी मामलों में अभियुक्तों की तत्काल गिरफ्तारी कर समयबद्ध विवेचनाओ का निस्तारण सुनिश्चित किया जाये। पीडिता व पीडिता के परिवार को सुरक्षा उपलब्ध करायी जायें। महिलाओं / बालिकाओं के विरूद्ध अपराधों में संलिप्त अभियुक्तों के विरूद्ध भी गैंगस्टर/ गुण्डा अधिनियम के अन्तर्गत कार्यवाही की जाये साथ ही साथ महिला बीट आरक्षियों द्वारा अपनी बीट में जाकर महिलाओं / बालिकाओं की सुरक्षा हेतु शासन द्वारा संचालित मिशन शक्ति अभियान के तहत वूमेन पॉवर लाइन (1090) , यू०पी०सी०एम० हेल्प लाइन (1076), चाइल्ड हेल्प लाइन(1098) आदि नम्बरों के सम्बन्ध में जानकारी देने एवं महिलाओं / बालिकाओं को जागरूक करने के लिए विशेष अभियान चलाकर व्हाटसएप ग्रुप के माध्यम से अधिक से अधिक महिलओं एवं बच्चों को इस मुहिम से जोड़ा जाये ।

8- डीआईजी झॉसी द्वारा *संगीन अपराधों* के साथ-साथ अन्य अभियोगों की लम्बित विवेचनाओं की समीक्षा की गयी तो लम्बित एवं अनावरण हेतु शेष चल रही विवेचनाओं के निस्तारण हेतु जनपद प्रभारी को निर्देशित किया गया कि लम्बित विवेचनाओं की स्वयं समीक्षा करें तथा जो विवेचनाएं 06 माह या उससे अधिक समय से लम्बित है उन्हें प्राथमिकता के आधार पर निस्तारण करायें, यदि लम्बित विवेचनाओं के निस्तारण में किसी प्रकार की समस्या आ रही है तो पर्यवेक्षण अधिकारी / जनपद प्रभारी सम्बन्धित विवेचक का मार्गदर्शन करेगें।

9- डीआईजी झॉसी द्वारा हत्या, डकैती, लूट, नकबजनी, चोरी, गैंगस्टर एक्ट के *वांछित तथा पुरूस्कार घोषित अपराधियों* की समीक्षा करते हुये वांछित अपराधियों की शीघ्र गिरफ्तारी हेतु निर्देर्शित करने के साथ-साथ ऐसे अपराधी जिनका कुर्की के उपरान्त मफरूरी में चालान किया गया है और काफी समय से गिरफ्तारी के लिये शेष चल रहे है, गिरफ्तार न हो पाने के कारण कही न कही घटनाएं घटित करते रहते है ऐसे अपराधियों की गरफ्तारी हेतु सम्बन्धित क्षेत्राधिकारी के निर्देशन में टीम का गठन कर एसओजी / स्वाट / सर्विलांस के सहयोग से शत-प्रतिशत गिरफ्तारी हेतु जनपद प्रभारी को निर्देशित किया गया ।

10- *Operation Conviction* - के अंतर्गत जनपद प्रभारी को चिन्हित अपराधों में त्वरित गति से पैरवी कराकर अभियोजन की कार्यवाही संपन्न कराकर आरोपियों को न्यूनतम समय में सजा दिलाए जाने का कार्य किये जाने हेतु निर्देशित किया गया तथा चिन्हित अभियोगों को अधिकारीवार आवंटित किये गये प्रकरणों में सम्बन्धित अधिकारी सजा दिलाना सुनिश्चित करें।

11 - *ऑपरेशन त्रिनेत्र-* के अर्न्तगत काफी मात्रा में सीसीटीवी कैमरे लगवाये गये है फिर भी कुछ स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगवाये जाने की और आवश्यकता प्रतीत होती है जिसके लिये डी०आई०जी० झांसी द्वारा जनपद प्रभारी को चिन्हित किये गये स्थानों के अतिरिक्त अन्य संवेदनशील स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे व्यवस्थापित करने हेतु निर्देशित किया गया।

12- डीआईजी झॉसी ने बताया कि *ITSSO PORTAL* के अन्तर्गत लम्बित विवेचनाओं का समयबद्ध निस्तारण करायें एवं लम्बित विवेचनाओं की जनपद प्रभारी द्वारा समय-समय पर स्वयं समीक्षा की जाये।

13- डी०आई०जी० झॉसी द्वारा जनपद प्रभारी/ क्षेत्राधिकारी/ थाना प्रभारियों को *आईजीआरएस* के माध्यम से प्राप्त होने वाली जनशिकायतों को समयबद्ध गुणवत्तायुक्त निस्तारण कराये जाने के निर्देश दिये गयें ।

14- डीआईजी झॉसी द्वारा बताया गया कि *शीतकालीन सत्र में चोरी एवं नकबजनी* की घटनाएं घटित होने की आशंका बनी रहती है अतः हाट स्पॉट चिन्हित कर पिकेट की व्यवस्था के साथ ही साथ निरन्तर पैदल गस्त एवं अर्न्तराज्यीय/अर्न्तजनपदीय सीमाओं पर बैरियर लगाकर सघन चेकिंग अभियान जारी रखने के निर्देश दिये गये। चोरी छिपे आवागमन (पोरस बार्डर) के मार्गों का चिन्हीकरण कर लिया जाये तथा यू०पी०- 112 के डेटा के आधार पर विगत घटित कतिपय चोरी की घटनाओं के घटनास्थलों पर पीआरवी को निरन्तर क्रियाशील रखने के निर्देश दिये गये।

15- डीआईजी द्वारा जनपद जालौन में खोले गये नये साइबर थाने को सुचारू रूप से चलाने एंव समय-समय पर साइबर जागरूकता अभियान चलाये जाने हेतु निर्देशित किया गया 

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow