महाराज के मार्गदर्शन में श्री सीताराम महायज्ञ की तैयारियां जोरों पर, आयोजन को भव्यता देने के लिए यमुना नदी तट को चुना गया

May 4, 2024 - 17:42
 0  39
महाराज के मार्गदर्शन में श्री सीताराम महायज्ञ की तैयारियां जोरों पर, आयोजन को भव्यता देने के लिए यमुना नदी तट को चुना गया

वीरेंद्र सिंह सेंगर 

पंचनद धाम औरैया। प्रदेश के ही नहीं बल्कि संपूर्ण देश के एकमात्र धार्मिक,पौराणिक एवं ऐतिहासिक स्थल पवित्र पांच नदियों यमुना, चंबल, सिंध, पहूज और कुंवारी के पवित्र महासंगम पंचनद धाम क्षेत्र में आगामी 13 मई से शुरू होने वाले श्री सीताराम महायज्ञ, श्रीमद्भागवत ज्ञान यज्ञ और विशाल संत तथा धर्म सम्मेलन की तैयारिंयां मझखरा महाराज मंदिर पर महाराज के मार्गदर्शन में जोरों पर चल रहीं हैं, आयोजन को भव्यता प्रदान करने के लिए महाराज जी द्वारा यमुना नदी तट को चुना गया है जिससे आयोजन को सफल बनाने के लिए उनके तमाम शिष्य तैयारियों में लगातार रात दिन लगे हुए हैं।

 बताते चलें कि यह आयोजन जनपद औरैया के अयाना क्षेत्र के यमुना नदी तट पर स्थित ग्राम फरिहा में स्थित मझखरा महाराज मंदिर पर होने जा रहा है जिसमें देश के तमाम मानस मर्मज्ञ, महान संत समाज, कथाकार एवं प्रवचन कर्ता दूर-दूर से प्रकांड विद्वान एवं संत शिरोमणि महामंडलेश्वर सभी के यहां पहुंचने की प्रबल संभावना है वहीं यह भी बताते चलें कि इस आयोजन में कथा का श्रवण महामंडलेश्वर भारत के प्रसिद्ध नैपायक विद्वान (पी एच डी) संत शिरोमणी डॉक्टर श्री सिया रामदास जी महाराज माउंट आबू के आने से अपार भीड़ जुटने की संभावना है तथा यज्ञाचार्य राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित पीएचडी परम श्रद्धेय डॉक्टर श्री नर्मदा महाराज होंगे जिनके कर कमलों से यज्ञ के तमाम अनुष्ठान संपन्न होंगे आयोजन को सफल बनाने में जनपद औरैया, इटावा के अलावा जनपद जालौन के तमाम प्रतिष्ठित समाजसेवी एवं राजनेताओं के आने और सहयोग देने के लिए बराबर तांता लगा रहता है जिसमें जनपद जालौन के कुठौंद ब्लॉक प्रमुख रामू दुबे बराबर महाराज जी के कदम से कदम मिलाकर चल रहे हैं तथा स्थान पर चल रहीं तैयारियों पर बराबर नजर बनाए हुए हैं।

ज्ञात हो कि इस आयोजन के नदी तट पर होने से लोगों में और अधिक कौतूहल का विषय बना हुआ है क्योंकि नदी तट के साथ साथ और कुछ महत्वपूर्ण आयोजन नदी तट और नदी के माध्यम से होने के कारण आयोजन की भव्यता में और भी चार चांद लगेंगे जिससे दोनों जनपदों के साथ-साथ इटावा जनपद से भी लोगों का पहुंचने की प्रबल संभावना है।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow