Top News

देश विदेश आजतक मीडिया समाचार

देश विदेश आजतक मीडिया समाचार
जवाहर सुरंग के पास हिमस्खलन की चपेट में आने से 10 पुलिसकर्मी लापता।

कांग्रेस महासचिवों की बैठक खत्म, 11 फरवरी को लखनऊ जाएंगी प्रियंका गांधी।

कांग्रेस अध्यक्ष का जो भी आदेश होगा वो मानूंगी: प्रियंका गांधी।

मैं सिर्फ 2019 के लिए नहीं लंबे वक़्त के लिए यूपी जा रही हूं: प्रियंका गांधी।

महासचिवों की बैठक में बोलीं प्रियंका- मैं युवा और नई हूं, चाहिए आपका समर्थन।

चुनाव के लिए कांग्रेस ने कर्जमाफी का चक्र बना लिया: पीएम मोदी।

रोज 15 हजार से ज्यादा गरीबों को आयुष्मान भारत योजना से लाभ: पीएम मोदी।

मणिपुर: इंफाल में पोलो ग्राउंड के पास हुए विस्फोट में पांच लोग घायल।

देश देख चुका है मिलावटी सरकार होती है तो क्या होता है: पीएम मोदी।

कांग्रेस सत्ता पर अपना हक मानती है: लोकसभा में बोले पीएम मोदी।

मेरी तरफ उंगली उठाने वाले पहले अपनी तरफ देखें: पीएम मोदी।

भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा मोबाइल बनाने वाला देश: पीएम मोदी।

हमारी सरकार की पहचान भ्रष्टाचार पर कार्रवाई के लिए: पीएम मोदी।

आगामी चुनावों के लिए सभी दलों को शुभकामनाएं: लोकसभा में बोले पीएम मोदी।

न्यू इंडिया एक आशा और विश्वास का नाम: लोकसभा में बोले पीएम मोदी।

चुनाव के वर्ष में सबकी कुछ ना कुछ बोलने की मजबूरी: लोकसभा में बोले पीएम मोदी।

सरकार की पहचान ईमानदारी, पारदर्शिता के लिए है: लोकसभा में बोले पीएम मोदी।

ED के दफ्तर से निकले कार्ति चिदंबरम, 6 घंटे से ज्यादा देर तक हुई पूछताछ।

हरियाणा और यूपी के कुछ शहरों में अगले 2 घंटे में तेज बारिश की आशंका।

राफेल मुद्दे से ध्यान हटाने के लिए हो रही वाड्रा की जांच: केटीएस तुलसी।

तेजस्वी यादवः कांग्रेस नेताओं को परेशान कर रही बीजेपी।

तेजस्वीः चुनावी मौसम में मनगढ़ंत कहानी बनाकर वाड्रा की जांच कर रही बीजेपी।

रॉबर्ट वाड्रा के समर्थन में उतरे तेजस्वी यादव।

पटियाला हाउस कोर्ट ने दीपक तलवार को 12 फ़रवरी तक ED की कस्टडी में भेजा।

दिल्लीः ब्रेक के बाद फिर ED दफ्तर में पूछताछ के लिए पहुंचे रॉबर्ट वाड्रा।

राहुल गांधीः मोदी जी का सीना 56 इंच का नहीं बल्कि 4 इंच का।

राहुल गांधीः भागवत जी देश को पीछे से चला रहे हैं।

अल्पसंख्यक सम्मेलन में बोले राहुल गांधीः मोदी के चेहरे पर घबराहट दिख रही।

राहुल गांधीः पीएम जोड़ने का काम नहीं करेंगे तो हटा दिए जाएंगे।

राहुल गांधी के साथ 11 फरवरी को लखनऊ जाएंगी कांग्रेस महासचिव प्रियंका।

खौफनाक साजिशः जल्‍लाद बन बैठा होशंगाबाद का डॉक्‍टर!
नई दिल्ली : वो शहर का नामी ऑर्थोपैडिक डॉक्टर था। टूटी-फूटी हड्डियों को जोड़ना उसे खूब आता था. इंसानी जिस्म में कौन सी हड्डी कहां है ये उससे बेहतर कोई नहीं जानता था. इसीलिए उसे ये भी मालूम था कि एक लाश के कहां-कहां से और कितने टुकड़े हो सकते हैं. यही वजह है कि शायद वो हिंदुस्तान का पहला ऐसा आरोपी कातिल बन गया है, जिसने किसी लाश के सबसे ज्यादा टुकड़े किए हों. एक लाश के करीब पांच सौ टुकड़े. अब ज़रा सोचिए. फर्श पर लाश के करीब पांच सौ टुकड़े पड़े हों और उसी वक्त पुलिस वहां पहुंच जाए तो कातिल छोड़िए पुलिस की क्या हालत होगी.

5 फरवरी 2019, दोपहर 1 बजे, होशंगाबाद, मध्यप्रदेश
होशंगाबाद पुलिस को खबर मिलती है कि शहर के पॉश आनंद नगर इलाके के एक बंगले से एक अजीब सी गंध आ रही है. बदबू इतनी तेज़ कि लोगों के लिए नाकाबिल-ए-बर्दाश्त थी. ख़बर मिलते ही पुलिस को लग गया कि हो ना हो यहां कुछ तो गड़बड़ है. और इससे पहले की कहीं देर ना हो जाए. पुलिस ने घर में दस्तक दे दी. दरवाज़ा खुलने में देर हुई तो पुलिस जबरन घुस गई। पुलिस घर में दाखिल हो तो गई थी. मगर जो मंज़र उसकी आंखों के सामने था वो रौंगटे खड़े कर देने वाला था. घर में चारों तरफ बिखरे इंसानी लाश के करीब 500 टुकड़े. लड़की काटने वाली 4 आरियां. एक ड्रम भर कर एसिड. हड्डियां काटने के लिए चौकी. और इन सब के बीच हाथों में लाश के टुकड़े लिए हुए एसिड में जलाने की कोशिश कर रहा शहर का नामी गिरामी ऑर्थोपैडिक डॉक्टर सुनील मंत्री। एक तो यूं भी लाश की गंध बर्दाश्त के काबिल नहीं होती. ऊपर से अगर उसे एसिड में डाल दिया जाए तो उस जगह खड़ा होना भी मुश्किल हो जाता है. और उसी जगह उस वक्त होशंगाबाद की पुलिस खड़ी थी. लाश को गलाने के लिए शहर के मशहूर ऑर्थोपैडिक डॉक्टर सुनील मंत्री ने एचसीएल और सल्फ्यूरिक एसिड का इस्तेमाल किया था. क्योंकि इन दोनों एसिड को मिलाने से जो हाई डेंसिटी घोल तैयार होता है. उसमें हड्डियां महज़ पांच से सात घंटे में पूरी तरह से गल जाती है। मगर सवाल ये था कि जिस लाश के 500 टुकड़े पुलिस अपनी आंखों के सामने देख रही थी वो आखिर थी किसकी. डॉ सुनील मंत्री ने आखिर किसे इस बेरहमी से मार डाला और क्यों? इसके लिए हमें अप्रैल 2018 में जाना होगा. ऑर्थोपैडिक डॉक्टर सुनील मंत्री की पत्नी सुषमा मंत्री का लंबी बीमारी की वजह से अप्रैल 2018 में निधन हो गया था. सुषमा अपने घर में पिछले 8 सालों से एक बुटीक चला रही थीं. जो अच्छा खासा चलने लगा था. और उनके इस काम में हाथ बटाने के लिए महिला भी थी. मगर सुषमा की मौत के बाद भी डॉक्टर साहब ने इस बुटीक को बंद नहीं किया. और उसकी ज़िम्मेदारी उस महिला को दे दी जो शुरू से ही इस काम से सुषमा के साथ जुड़ी हुई थी। मगर कुछ ही दिनों में महिला का रहन सहन बदल गया. जिसे देखकर उसके पति वीरेंद्र पचौरी उर्फ वीरू के शक़ हुआ. उसने अपनी पत्नी से इस सिलसिले में बात की तो बीवी टालमटोल करने लगी. वीरू का शक और गहरा गया और वो सीधे डॉक्टर के पास पहुंच गया. जहां दोनों में इस बात को लेकर काफी बहस हुई. और वीरू डॉक्टर मंत्री को धमकाने लगा। इटारसी के सिविल अस्पताल में काम कर रहे डॉक्टर मंत्री उम्र के आखिरी पड़ाव थे. उनका रिटार्यमेंट भी करीब था. और शहर में एक आर्थोपेडिक डॉक्टर के तौर पर उनकी काफी इज्ज़त थी. ऐसे में उन्हें डर था कि वीरू ना सिर्फ उनकी इज्ज़त पर बट्टा लगा सकता है। बल्कि उन्हें उसकी ब्लैकमेलिंग का शिकार भी बनना पड़ेगा। इसलिए डॉक्टर साहब ने इस नासूर का ऑपरेशन करने का प्लान तैयार कर लिया। उसी के चलते डॉक्टर ने इस खौफनाक वारदात को अंजाम दे डाला।

👉🏿दरवाजा खटखटाकर मांगा पानी, फ‍िर प‍िता के सामने बेटी का गैंगरेप
नई द‍िल्ली : ब‍िहार में हैवान‍ियत के तांडव का मामला सामने आया है. यहां एक पिता को बंधक बनाकर एक बेटी से गांव के ही 6 दरिंदों ने सामूहिक दुष्कर्म किया. गैंगरेप करने वालों के हौंसले इतने बुलंद थे क‍ि उन्होंने बाप को ही धमकी दे डाली क‍ि किसी को इस घटना के बारे में बताया तो जान से मार देंगे। पीड़िता के पिता ने बताया क‍ि गांव के ही 6  युवकों ने देर रात दरवाजा खटखटाया और पीने के लिए पानी मांगा. प‍िता ने सोचा क‍ि शायद कोई प्यासा बाहर खड़ा है. उसने दरवाजा खोला तो बाहर उसी के गांव के 6 युवक खड़े थे. इसके बाद सभी ने उन्हें बंधक बना लिया।

प‍िता के सामने बेटी का गैंगरेप
पीड़िता के पिता ने आगे बताया क‍ि बंधक बनाकर वे मुझे और मेरी बेटी को आधा किलोमीटर दूर ले गए और मेरे सामने ही बेटी के साथ सभी ने दुष्कर्म किया. इसके बाद दरिंदों ने धमकी दी कि अगर किसी को जानकारी दी तो जान से मार देंगे. घटना के बाद मेरी बेटी ने ही मेरे हाथों में बंधी रस्सी खोली और फ‍िर हम घर लौटे।

पड़ोस‍ियों पर लगा रेप का आरोप
पहले घर पर प‍िता ने सोचा क‍ि इस घटना की जानकारी क‍िसी का न दें, नहीं तो पूरे गांव में बदनामी हो जाएगी. लेक‍िन फ‍िर लगा क‍ि इससे अपराध‍ियों के हौंसले ही बुलंद होंगे. इसल‍िए बुधवार को मामले की जानकारी स्थानीय पुलिस को दी गई. गैंगरेप का आरोप पड़ोस में रहने वाले फैज आलम (21 वर्ष), अब्दुल मन्नान (27 वर्ष), कालू (27 वर्ष), मो. कासिम (35 वर्ष), मो. तकसीर (24 वर्ष) व अंसार (35 वर्ष) पर लगा है।

आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी
घटना सोमवार-मंगलवार की दरम‍ियानी रात का है. बुधवार को पीड़िता ने कोढ़ोवाड़ी पुलिस में बयान दर्ज कराया. इसके बाद पुलिस ने सभी आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी शुरू कर दी. ये घटना ब‍िहार के क‍िशनगंज ज‍िले की है. 19 साल की पीड़िता को मेडिकल जांच के लिए सदर अस्पताल किशनगंज भेजा गया. एसपी कुमार आशीष ने घटनास्थल पर पहुंच कर पीड़ित परिजन व ग्रामीणों से मामले की जानकारी ली. घटना क‍िशनगंज के दिघलबैंक प्रखंड क्षेत्र के एक गांव का है।

👉🏿RML की महिला डॉक्टर ने दी जान, सुसाइड नोट में लिख गई 3 डॉक्टरों के नाम
नई दिल्ली : दिल्ली स्थित केंद्र सरकार के राम मनोहर लोहिया (आरएमएल) अस्पताल की 52 वर्षीय एक सीनियर लेडी डॉक्टर ने बुधवार को नॉर्थ एवेन्यू स्थित अपने सरकारी फ्लैट में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। मृतक डॉक्टर की पहचान राममनोहर लोहिया अस्पताल की कंसलटेंट रेडियोलोजिस्ट पूनम वोहरा के रूप में हुई है। पुुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, नॉर्थ एवेन्यू पुलिस को दोपहर एक बजे इसकी खबर मिली, जिसके बाद पुलिस टीम मौके पर पहुंची। प्रथमदृषट्या जांच में सामने आया है कि पूनम वोहरा छुट्टी पर थीं। उनके पति और दो बच्चे घटना के समय मौके पर नहीं थे और फ्लैट अंदर से बंद था। पुलिस को मौके से एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर आगे की कानूनी कार्रवाई शुरू कर दी है। पुलिस ने कहा कि डॉक्टर पूनम वोहरा ने सुसाइड नोट में अस्पताल के तीन डॉक्टरों पर “अपमानजनक व्यवहार और परेशान करने” का आरोप लगाया, क्योंकि वह उनके खिलाफ जांच कर रही थीं।

घटना के समय घर में थी अकेली
पुलिस ने कहा कि पूनम नॉर्थ एवेन्यू में एक सरकारी आवास में रहती थी। पुलिस ने कहा कि घटना दोपहर 1 बजे की है जब उसके पति चरणजीव वोहरा, जो एक निजी कंपनी के लिए काम करते हैं, घर लौट आए और घर को बंद पाया। घटना के समय दंपति के दो बच्चे स्कूल में थे। सूत्रों के अनुसार, डॉक्टर पूनम के पति ने जब खिड़की से झांककर देखा तो उन्होंने पूनम को अपने बेडरूम में छत के पंखे से लटका पाया। पड़ोसियों की मदद से, उन्होंने दरवाजा खोला और उसे नीचे उतारा। उन्होंने पुलिस को फोन किया और उसे अस्पताल ले गए जहां पूनम वोहरा को मृत घोषित कर दिया। चरणजीव वोहरा ने कहा, “पूनम को परेशान किया जा रहा था और मुझे पता था कि वह परेशान थी। हालांकि, मुझे जांच के बारे में कुछ भी पता नहीं है। मुझे पुलिस के पास से सुसाइड नोट मिला है।

पुलिस अस्पताल प्रशासन से कर रही पूछताछ
वहीं, पुलिस उपायुक्त (नई दिल्ली) मधुर वर्मा ने कहा कि सुसाइड नोट बेडरूम में पाया गया। “उसके सुसाइड नोट में सिर्फ एक लाइन लिखी थी – कि ये तीनों डॉक्टर उसे अपमानित और परेशान कर रहे थे। हमें पता चला है कि वह तीन डॉक्टरों के खिलाफ कदाचार से संबंधित कुछ विभागीय जांच कर रही थीं। हमें इन आरोपों के बारे में और अधिक जानने के लिए अस्पताल प्रशासन और महिला के सहयोगियों से पूछताछ करना बाकी है। सुसाइड नोट का भी सत्यापन किया जा रहा है। हालांकि, पुलिस उपायुक्त ने तीनों डॉक्टरों के नाम का खुलासा नहीं किया।

👉🏿रोज-डे पर सामने आई सनसनीखेज वारदात, पत्नी का गला रेतकर थाने पहुंच गया पति
मेरठ : प्रेम के प्रतीक माने जाने वाले वेलेंटाइन वीक के पहले ही दिन शहर के माधवपुरम इलाके से सनसनीखेज खबर सामने आई है। आठ साल पहले लव मैरिज करने वाले शख्स ने बुधवार देर रात पत्नी की गला रेतकर हत्या कर दी। वह खून से सना चाकू लेकर थाने पहुंचा और बोला- मुझे गिरफ्तार कर लो।

मुझे भी मार दो, मैं जीना नहीं चाहता
जानी थाना क्षेत्र के नैक गांव निवासी संजय वाल्मीकि शहर में सफाई का काम करता है। करीब आठ माह से वह अपनी पत्नी अमृता निवासी सतवाई भोला गांव के साथ माधवपुरम में राजकुमार के घर किराए पर रहता था। बुधवार रात संजय खून से सना हुआ चाकू लेकर ब्रह्मपुरी थाने पहुंच गया। उसने रोते हुए बताया कि वह अपनी पत्नी की गर्दन काटकर आया है। उसकी पत्नी ही इस दुनिया में नहीं रही तो वह भी जीना नहीं चाहता।

अवैध संबंध के शक में ली जान
पुलिस आरो‍पित पति को ग‍िरफ्तार कर घटनास्थल पर लेकर पहुंची। आनन-फानन में शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। संजय ने आरोप लगाया कि उसकी पत्नी के जितेंद्र नाम के युवक से अवैध संबंध थे। कई बार दोनों को समझाया भी गया। पत्नी के साथ मारपीट भी की, लेकिन वह नहीं मानी। समाज में इज्जत खराब होती देखकर उसने पत्नी का कत्ल कर दिया। पुलिस जितेंद्र की तलाश कर रही है।

इन्होंने कहा
आरोपित ने अवैध संबंधों के चलते अपनी पत्नी की हत्या की है। अन्य बिंदुओं पर भी जांच की जा रही है। महिला के मायके वालों ने अभी तक कोई शिकायत नहीं की।
– बृजेश शर्मा, इंस्पेक्टर-ब्रह्मपुरी

👉🏿महिला को नशीला पेय पिलाकर दुष्कर्म का आरोपित कैफे संचालक गिरफ्तार
ऋषिकेश : महिला को नशीला पेय पिलाकर दुष्कर्म और अश्लील फोटो खींचकर ब्लैकमेल करने के आरोपित कैफे संचालक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने आरोपित के कंप्यूटर व मोबाइल भी कब्जे में लिए हैं। कोतवाली पुलिस ने एक महिला की तहरीर पर एक कैफे संचालक के खिलाफ दुष्कर्म व अश्लील फोटो खींचकर ब्लैकमेल करने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया था। महिला का आरोप है कि बीते वर्ष जून माह में त्रिवेणी घाट स्थित एक साइबर कैफे के मालिक राजेश पुरोहित पुत्र स्व. विष्णु प्रसाद पुरोहित ने कैफे में पानी के साथ कुछ नशीला पदार्थ पिलाकर बेहोश कर दिया। आरोप है कि कैफे संचालक ने दुष्कर्म करते हुए अश्लील फोटो भी खींचे थे। इन अश्लील फोटो को वायरल करने की धमकी देते हुए कैफे संचालक लंबे समय से ब्लैकमेल कर रहा था। कोतवाली प्रभारी निरीक्षक रीतेश शाह ने बताया कि इस मामले में मुकदमा दर्ज कर मामले की विवेचना उपनिरीक्षक सरोज नौटियाल को सौंपी गई थी। अभियुक्त की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम ने मुखबिर तंत्र को सक्रिय करते हुए संभावित स्थानों पर दबिश दी। पुलिस ने देर रात आरोपित राजेश पुरोहित को ऋषिकेश के तहसील चौक के पास से गिरफ्तार कर लिया।

👉🏿शातिरों ने ऐसे लगाया छह राज्‍यों के हजारों लोगों को चूना, लालच देकर 300 करोड़ हड़पे
अंबाला : कुछ शातिर दिमाग लोगों ने किम इंफ्रास्ट्रक्चर एंड डेवलपर्स लिमिटेड नाम से कंपनी रजिस्टर्ड कराई और बैंक से अधिक ब्याज का झांसा दे छह राज्यों के हजारों लोगों के करीब 300 करोड़ की धोखाधड़ी कर ली। कंपनी की तरफ से जमीन और शेयर मार्केट में निवेश के नाम पर निवेशकों से भारी भरकम राशि ली। बाद में कंपनी को दिवालिया घोषित कर दिया। कंपनी के संचालकों ने देशभर में कार्यालय खोला था।

कंपनी बनाकर जमीन और शेयर बाजार में निवेश के नाम पर लोगों को ठगा
पुलिस जांच में सामने आया है कि कंपनी ने पंजाब, हरियाणा, दिल्ली में जमीन खरीदी थी। इसके दस्तावेज पुलिस ने कब्जे में ले लिये हैं। इस प्रापर्टी को मुकदमे में अटैच कर कोर्ट के माध्यम से लोगों की डूबी रकम वापस हासिल की जाएगी। अभी पुलिस पीडि़तों की सूची तैयार कर रही है।

कंपनी रजिस्टर्ड कराई और लाेगों से रकम जमा कराने के बाद कर दिया दिवालिया घोषित
अंबाला छावनी की सदर पुलिस ने 16 जनवरी, 2018 को उमेश्वर झा, कंचन कुमार दत्ता, रविंद्र सिंह सिद्धू, लेखराज, संजीव, सिखदर, जगमोहन सिंह, गगनदीप, मुख्तयार सिंह, कंवलजीत सिंह और अनिल शर्मा के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर किया। पुलिस ने रविंद्र सिंह सिद्धू और खजान सिंह को गिरफ्तार कर लिया और दाेनों को रिमांड पर लिया। दोनों आरोपितों ने पांच दिन की रिमांड के दौरान बताया कि लोगों से एफडी और आरडी से मिले रुपये जमीन में निवेश किए थे। जमीन के रेट कम होने के कारण कंपनी घाटे में चली गई।

150 शाखाएं देशभर में हैं कंपनी की, हरियाणा, पंजाब, उत्तराखंड, बिहार, दिल्ली व हिमाचल के लोगों को ठगा
इसके बाद पुलिस ने जांच शुरू की तो कई चौंकाने वाले तथ्‍य सामने आए। पुलिस ने रविंद्र सिद्धू और खजान सिंह के साथ पंजाब के अमृतसर, पठानकोट, तरनतारन, गुरदासपुर, डेराबस्सी, होशियारपुर, हरियाणा के शाहबाद और सिरसा तथा दिल्ली में छापामारी की। जमीनों का रिकार्ड कब्जे में लेना शुरू कर दिया गया है।

12 हजार से 18 लाख तक फंसे
कंपनी में निवेश करने वाले कई लोगों ने बताया कि उनके 12 हजार से 18 लाख रुपये तक फंसे हैं। हरियाणा के महेंद्रगढ़ की रीता यादव के छह लाख, कैथल के भाना राम के चार लाख, कैथल की ही ओमा देवी के चार लाख, हिसार के मनोज बंसल के 16 हजार, कुरुक्षेत्र के अजय धीमान के 36 हजार और रितिक धीमान के 52 हजार, जालंधर की सुनीता भाटिया के 1.18 लाख कंपनी में फंस गए।
इसी तरह अमृतसर के रजनीश अरोड़ा के 4.15 लाख, मनीष अरोड़ा के 2.40 लाख, होशियारपुर की परमजीत कौर के 32 हजार, उत्तराखंड के पिथौरागढ़ निवासी भावना पांडे के 54 हजार, हिमाचल के चंबा की प्रेमा कोठारी के 12 हजार, धीरज के सात लाख, सोनिया विहार दिल्ली की गीता देवी के दो लाख, दिल्ली के ही रामफल के दो लाख, बिहार के छपरा की फूल कुमार देवी के एक लाख, बिहार के सिवान के रजनीश कुमार के पांच लाख रुपये ठगे गए हैं। अभी और लोगों के सामने आने की संभावना है।

👉🏿पाक सुप्रीम कोर्ट ने काटे सेना के पर, ISI को भी दी नसीहत
इस्लामाबाद : पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने देश की राजनीति में सेना की दखल पर अंकुश लगाते सशस्त्र बलों के सदस्यों सियासी गतिविधियों में शामिल होने पर रोक लगा दी है। कोर्ट ने पाकिस्तान की कुख्यात खुफिया एजेंसी ISI को भी कानून के दायरे में रहकर काम करने का आदेश दिया है। साथ ही सरकार से कहा कि ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाए जो घृणा, चरमपंथ और आतंकवाद का प्रसार करते हैं।
सुप्रीम कोर्ट की दो सदस्यीय पीठ ने बुधवार को यह आदेश साल 2017 में देश के फैजाबाद शहर में हुए एक विरोध प्रदर्शन के मामले में फैसला सुनाते हुए दिया। कोर्ट ने इस मामले में स्वतः संज्ञान लिया था। यह विरोध प्रदर्शन कट्टरपंथी संगठन तहरीक-ए-लबैक पाकिस्तान (टीएलपी) और दूसरे समूहों द्वारा दिया गया था। जस्टिस काजी फैज ईसा और जस्टिस मुशीर आलम की पीठ ने फैसले में कहा, ‘हम संघीय और प्रांतीय सरकारों को यह आदेश देते हैं कि उन लोगों की निगरानी की जाए जो घृणा, चरमपंथ और आतंकवाद की वकालत करते हैं। ऐसे लोगों पर कानून के तहत मुकद्दमा चलाया जाए।’ शीर्ष अदालत ने सेना के पर काटते हुए कहा कि किसी भी तरह की सियासी गतिविधियों में सैन्य बलों के सदस्यों के शामिल होने पर प्रतिबंध लगाया जाता है। सेना के जो लोग इस आदेश का उल्लंघन करते पाए जाएं, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए। अदालत ने यह भी आदेश दिया कि खुफिया एजेंसी इंटर-सर्विसेज इंटेलीजेंस (ISI ) समेत सभी सरकारी एजेंसियां और विभाग कानून के दायरे में रहकर काम करें। बता दें कि गत वर्ष जुलाई में हुए आम चुनाव में कई विपक्षी दलों ने यह आरोप लगाया था कि सेना के समर्थन से इमरान खान को चुनाव में जीत मिली। सेना और इमरान दोनों ने साठगांठ के आरोपों को खारिज किया था। बता दें कि 1947 में पाकिस्तान के बनने के बाद से सेना कई बार विभिन्न सरकारों का तख्तापलट कर सत्ता पर काबिज हो चुकी है। देश के फैसलों में सेना की अहम भूमिका मानी जाती है। पाकिस्तान की सर्वोच्च अदालत ने दूसरों को नुकसान पहुंचाने के मकसद से जारी किए जाने वाले फतवों को भी गैरकानूनी करार दिया है। कोर्ट ने फैसले में कहा, ‘किसी को नुकसान पहुंचाने के लिए फतवा जारी करने वाले व्यक्ति के खिलाफ आपराधिक मुकदमा चलाया जाना चाहिए।रिपोर्टर
रेखा कौशल (शिमला)आजतक मीडिया ,

aajtakmedia
aajtakmedia
संपादक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *