[t4b-ticker]
उत्तरप्रदेश कोंच जालौन

शिवरात्रि के पर्व पर शिवालयों में सुबह से ही लगा रहा भक्तों का तांता।

संपादक – संतोष कुमार निरंजन

कोंच (जालौन) हिन्दू धर्म में महाशिवरात्रि का विशेष महत्व होता है यह पर्व फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को मनाया जाता है इस व्रत पर्व पर कई कथाएं प्रचलित हैं जिनमें शिवरात्रि के दिन माँ पार्वती ने शिव को पति के रूप में पाने के लिए घनघोर तपस्या की थी जिसके फल स्वरूप फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी को भगवान शिव और माता पार्वती का विवाह हुआ था इसी लिए महाशिवरात्रि को बेहद महत्वपूर्ण और पवित्र माना जाता है वहीं एक अन्य कथा के अनुसार गरुण पुराण में वर्णित इस दिन निषादराज अपने कुत्ते के साथ शिकार खेलने गए लेकिन उन्हें कोई शिकार नहीं मिला और वह भूख प्यास एवं थककर एक तालाब के किनारे गए वहीं पर एक विल्व वृक्ष के नीचे शिवलिंग था जब निषादराज ने अपने शरीर को आराम देने के लिए वेलपत्र तोड़े तो कुछ विल्व पत्र शिवलिंग पर भी गिर गए और पैरों को साफ करने के लिए तालाब के जल को छिड़का तो उसकी कुछ बूंदें शिवलिंग पर भी जा गिरीं ऐसा करते समय उसका एक तीर नीचे गिर गया जिसे उठाने के लिए वह शिवलिंग के सामने झुका इस क्रिया से ही शिवपूजन की पूरी प्रक्रिया अनजाने में पूरी हो गयी जिसके फल स्वरूप जब निषाद राज को यमदूत लेने आये तो उन्हें शिव गणों ने भगा दिया इसी महत्व को मानते हुए दिन गुरुबार को नगर एवं क्षेत्र के शिवालयों में शिव भक्तों का जन सैलाब उमड़ पड़ा और शिवालयों में बम बम भोले के स्वर सुनाई देने लगे जिन्हें प्रमुख रूप से झलेस्वर पठेस्वर महाकालेस्वर मंदिर भूतेस्वर मंदिरऔर पीपलेस्वर मंदिर आदि शिवालयों में शिव भक्त शिवरात्रि के पर्व पर भगवान भोले नाथ का अभिषेक किया और पुष्प सुमन वेलपत्र धतूरा व प्रसाद लिए भोलेनाथ की बिधि बिधान से पूजा अर्चन करते देखे गए वहीं नगर के मंदिरों में रामायण पाठ और हवन पूजन के साथ साथ भंडारे का भी आयोजन भक्तों द्वारा किया जा रहा है।

Related posts

शिक्षक दिवस पर कार्यक्रम आयोजित।

aajtakmedia

पेट्रोल पंप का लाइसेंस दिलाने के नाम पर चालीस लाख रुपए की ठगी।

aajtakmedia

मनरेगा कार्मिक संघ ने किया एक दिवसीय बिरोध प्रदर्शन।

aajtakmedia

Leave a Comment