[t4b-ticker]
उत्तरप्रदेश कालपी जालौन

नेताजी सुभाषचंद्र बोस को उनके जन्मदिवस पर याद किया गया।

संपादक  – संतोष कुमार निरंजन

कालपी (जालौन) कटक बंगाल प्रेसीडेंसी का ओड़ीसा डिवीजन में २३जनवरी१८९७को जन्मे सुभाष चन्द्र बोस (सुभाष चन्द्रो बोशु)भारत के स्वतंत्रता संग्राम के अग्रणी तथा सबसे बडे़ नेता थे।द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान अंग्रेजों के खिलाफ लड़ने के लिए उन्होंने जापान के सहयोग सेआजाद हिन्द फौज का गठन किया था।उनके द्वारा दिया गया”जय हिन्द”का नारा भारत का राष्ट्रीय नारा बन गया है।
“तुम मुझे खून दो में तुम्हें आजादी दूंगा” का नारा भी उनका था जो उस समय अत्यधिक प्रचलन में आया। भारतवासी उन्हें नेता जी के नाम से संबोधित करते हैं।उक्त बात नरेन्द्र मोदी विचार मंच के राष्ट्रीय महामंत्री अशोक बाजपेई ने वरिष्ठ भाजपा नेता पूर्व मण्डल अध्यक्ष अरुण सिंह चौहान बना के आवास पर नेता जी सुभाष चन्द्र बोस के १२५ जन्म दिवस पर आयोजित पराकृम दिवस कार्यकृम में उपस्थित लोगों के बीच कही।
श्री बाजपेई ने नेता जी सुभाष चन्द्र बोस के जीवन के कई अनछुए पहलुओं उनके पराकृम की यादों को ताजा किया।उन्होने बताया कि कुछ इतिहासकारों का मानना है कि जब नेता जी ने जापान और जर्मनी से मदद लेने की थी तब ब्रिटिश सरकार ने अपने गुप्तचरों को १९४१में उन्हें खत्म करने का आदेश दिया था।आपको बताते चलें कि २१अक्टूबर १९४३में सुभाष चन्द्र बोस ने आजाद हिन्द फौज के सर्वोच्य सेनापति की हैसियत से स्वतंत्र भारत की अस्थाई सरकार बनाई जर्मनी,जापान,फिलीपींस,कोरिया,चीन,इटली,मान्चुको और आयरलैंड सहित ११देशों की सरकारों ने मान्यता दी थी। जापान ने अंडमान और निकोबार द्वीप समूह इस सरकार को दिए सुभाष चन्द्र उन द्वीपों पर गए और उनका नामकरण किया।
वरिष्ठ भाजपा नेता अरुण सिंह चौहान बना ने बताया कि स्वतंत्रता संग्राम सेनानी नेता जी सुभाष चंद्र बोस की जयंती को भारत सरकार ने हर साल पराक‌म दिवस के रूप में मनाने का फैसला लिया है।इस बावत भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय ने अधिसूचना जारी की है कि प
रति वर्ष २३जनवरी को नेता जी सुभाष चन्द्र बोष की जयंती पराकृम दिवस के रुप में मनाएगी।
उक्त अवसर पर उपस्थित ,कल्लू शुक्ला,रोहणी शर्मा ,नीलाभ शुला, लोकेन्द्र कश्यप,दिलीप द्विवेदी,प्रहलाद सिंह,सुशील साहू,राज कुमार निषाद,शिवम सविता,मनोज पाण्डेय,रविन्द्र सिंह चौहान, वीरेन्द्र सविता,सुमित अवस्थी,सोनू महाराज, आदि ने नेता जी के चित्र पर माल्यार्पण कर देश की आजादी के लिए उनके पराकृम, संघर्ष उनके त्याग उनके बलिदान को याद कर उन्हें नमन किया।

Related posts

पंचनद के पवित्र बृक्षों को काटने में जुटे चरवाहे।

aajtakmedia

राष्ट्रीय सेवा योजना के अंतर्गत चलाया गया स्वच्छता अभियान।

aajtakmedia

पोस्को एक्ट का आरोपी पकड़ कर जेल भेजा

AAJ TAK Media

Leave a Comment