[t4b-ticker]
उत्तरप्रदेश कालपी जालौन

शासकीय उपेक्षाओ के चलते कांजी हॉउसों का अस्तित्व खतरे मे।

 

कालपी (जालौन) शासकीय उपेक्षाओ के चलते कालपी के कांजी हॉउसों की हालत ख़राब होने से उसका अस्तित्व ही खत्म हो गया है। फलस्वरूप अवारा पशुओ का जगह – जगह जमघट बना हुआ है।

ज्ञात हो कि अवारा एवं अन्ना जानवरो को पकड़ कर बंद करने के लिये नगर पालिका के द्वारा कालपी के मोहल्ला अदलसराय तथा तरीबुल्दा मे कांजी हॉउसों का निर्माण कराया गया था। बड़ी इमारतों मे बने कांजी हॉउसों मे अवारा जानवरो को बंद कर दिया जाता था। कांजी हॉउसों मे पालिका कर्मचारियों की तैनाती रहती थी।

बीते एक दशक से पालिका प्रशासन के द्वारा अनदेखी करने से कांजी हॉउसों के भवनों की हालत खस्ताहाल होने लगी। अदलसराय मोहल्ले का कांजी हाउस तो पूरी तरह गिर चुका है तथा भवन का कोई अता पता भी नहीं रह गया है जबकि तरीबुल्दा के कांजी हाउस का अधूरा भवन वीरान हो गया है गुम्मे तथा टिन शेड दिनोदिन धराशाही होता जा रहा है। जनहित मे प्रशासन से मांग है कि कांजी हॉउसों के हालातों मे सुधार कराया जाय।

Related posts

मां ने नाम दिया जिलाजीत सिंह, लेकिन इस वीर ने तो विश्वजीत लिया।

aajtakmedia

मृत पुत्र के पोष्ट मार्टम कराये जाने को लेकर कोतवाल से लगायी गुहार।

aajtakmedia

सेवानिवृत्त उपनिरीक्षक शिवशंकर सिंह का हुआ सम्मान।

aajtakmedia

Leave a Comment