[t4b-ticker]
उत्तरप्रदेश कालपी जालौन

खाद्य विभाग की उदासीनता के चलते कालपी में खाद्य सामग्री के नाम पर बेचा जा रहा जहर।

संपादक – संतोष कुमार निरंजन

कालपी ( जालौन ) कहने को तो बच्चे देश का भविष्य होते हैं कोरोना महामारी के चलते आज बच्चों की मानसिकता उदासीन होती जा रही है बच्चों का सर्वांगीण विकास रुक सा गया है। स्कूल न खुलने की वजह से बच्चों का भविष्य ख़राब होता जा रहा है लेकिन कुछ देश के ये चंद मनाफाखोर व्यापारियों ने लगता है दुश्मन देशों से मानो हमारे बच्चों की जान लेने की सुपारी ले रखी हो।

मामला उ. प्र. के डिस्टिक जालौन के नगर कालपी का है खाद्य सामग्री बनाने वाली कंपनियां फुटकर व थोक विक्रेताओं के माध्यम से नकली व एक्सपायर डेट की खाद्य सामग्री कालपी नगर वासियों व खासतौर से बच्चों की जान लेने लिए कालपी व आस पास के क्षेत्रों में धड़ल्ले से बेच रहीं है। ना तो इन खाद्य सामग्रीओं पर मैन्युफैक्चरिंग डेट होती है ना ही एक्सपायरी डेट। इन देश द्रोहियों का ये काला धंधा इस कदर फल फूल रहा है कि कालपी नगर की जनता व मासूम बच्चे अस्पतालों में हाजरी लगाते रहते हैं।

 

Related posts

जालौन – मादक पदार्थो के साथ दो अभियुक्तो को किया गिरफ्तार, सीओ ने कोतवाली में किया खुलासा।

aajtakmedia

कोतवाली पुलिस ने शांति भंग में चार लोगों को किया पाबन्द।

aajtakmedia

जल जीवन योजना का हुआ भुमि पूजन।

aajtakmedia

Leave a Comment