[t4b-ticker]
उत्तरप्रदेश कालपी जालौन

तटवर्ती ग्रामों में आधा दर्जन बाढ़ राहत चौकियां हुई स्थापित,यमुना के जलस्तर में मामूली बढ़त।

 

कालपी(जालौन)  यमुना एवं बेतवा नदी में संभावित बाढ़ को मद्देनजर रखते स्थानीय प्रशासन एवं राजस्व विभाग के द्वारा तैयारियां पूरी कर ली गई है। तथा नदियों के तटवर्ती ग्रामों में बाढ़ राहत चौकियों को भी सक्रिय कर दिया गया है।
विदित हो कि मानसून बरसात के बाद यमुना एवं बेतवा नदी में पानी का उफान शुरू हो जाता है। कालपी में यमुना नदी का खतरे का निशान 108 मीटर पर स्थित है लेकिन 21 जून को यमुना का जलस्तर 94.3 मीटर पर बह रहा था। सूत्रों के मुताबिक जलस्तर में धीरे-धीरे वृध्दि हो रही है। बेतवा नदी का खतरे का निशान 122 मीटर पर है लेकिन वर्तमान में जलस्तर 109 मीटर पर है। तहसीलदार बलराम गुप्ता ने बताया कि कालपी तहसील क्षेत्र में बेतवा एवं जमुना नदी के किनारे आधा दर्जन बाढ़ राहत चौकियों को सक्रिय कर दिया गया है। एवं बराबर निगरानी रखी जा रही है।

 

Related posts

तीन चर्चित सिपाही हुये लाइन हाजिर, दो सब इंस्पेक्टर स्थानांतरित।

aajtakmedia

अवैध शराब के साथ पुलिस ने तीन लोगों को किया गिरफ्तार।

aajtakmedia

ग्राम अंडा(आनंद नगर) में हुआ एक्वा कल्चर सिस्टम का प्रदर्शन।

aajtakmedia

Leave a Comment