Uncategorized

रॉबर्ट वाड्रा की जमीनों से जुड़े मामले की विस्तृत रिपोर्ट फिर राॅबर्ट वाड्रा ने मां का इस्तेमाल क्यों किया?

रॉबर्ट वाड्रा की जमीनों से जुड़े मामले की विस्तृत रिपोर्ट फिर राॅबर्ट वाड्रा ने मां का इस्तेमाल क्यों किया?
पत्नी प्रियंका गांधी चार्टर प्लेन लेकर मिलने आईं।
जयपुर में ईडी के अफसर कर रहे हैं पूछताछ
12 फरवरी को कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के जीजा और राष्ट्रीय महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी वाड्रा के पति राॅबर्ट वाड्रा से जयपुर स्थित प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अधिकारियों ने पूछताछ की। पूछताछ में राॅबर्ट वाड्रा की माताजी मोरीन वाड्रा भी शामिल थी। यह पूछताछ वाड्रा कंपनी स्काई लाइट द्वारा राजस्थान के कोलायत क्षेत्र में खरीदी गई 275 बीघा भूमि के बारे में हो रही है। अपनी सास और पति की हौंसला अफजाई के लिए प्रियंका गांधी 11 फरवरी को लखनऊ दौरा छोड़ कर जयपुर आई। 12 फरवरी को प्रियंका गांधी अपनी सास और पति को छोड़ने के लिए ईडी दफ्तर तक गई। प्रियंका गांधी ने चार्टर प्लेन से लखनऊ और जयपुर के बीच का सफर तय किया। 12 फरवरी को जब दिन में राॅबर्ट वाड्रा से पूछताछ हो रही थी, तभी ट्विटर पर राॅबर्ट वाड्रा का एक इमोशनल ट्वीट पोस्ट हुआ। राॅबर्ट वाड्रा ने कहा कि उनक 75 वर्षीय मां को पूछताछ के लिए जयपुर बुलाया गया है। जबकि उनकी मां ने अपने पति, बेटी और एक बेटे की मौत का दर्द सहन किया है। राॅबर्ट वाड्रा का कहना रहा कि लोकसभा चुनाव से पहले उनके परिवार को प्रताड़ित किया जा रहा है। राॅबर्ट वाड्रा का इमोशनल ट्वीट अपनी जगह है, लेकिन सवाल उठता है कि राॅबर्ट वाड्रा को अपनी मां की इतनी ही चिंता थी तो उनके नाम से राजस्थान में जमीने क्यों खरीदी गई? जिस कंपनी ने जमीने खरीदी उसमें मां मोरीन वाड्रा भी डायरेक्टर हैं और जमीनों के कारोबार के चैकों पर मोरीन वाड्रा के हस्ताक्षर भी हैं। राॅबर्ट वाड्रा को यह भी पता होगा कि जो जमीन लाखों में खरीदी गई उन्हें बाद में पांच करोड़ रुपए से भी ज्यादा में बेचा गया। ईडी अब राॅबर्ट वाड्रा से आय के स्त्रोतों की जानकारी कर रही है। इसमें इमोशनल ट्वीट की क्या आवश्यकता है। वैसे भी यह जांच राजस्थान हाईकोर्ट के निर्देशों पर हो रही है। और राॅबर्ट वाड्रा तो उन प्रियंका गांधी के पति हैं जो चार्टर प्लेन से आती जाती हैं। अब यदि राॅबर्ट वाड्रा ने राजस्थान के कोलायत क्षेत्र से लेकर लंदन तक में करोड़ों रुपए की सम्पत्तियां खरीदी हैं तो ईडी के सवालों का जवाब तो देना ही होगा। यदि राॅबर्ट वाड्रा अपने जमीनों के कारोबार में माताजी का इस्तेमाल नहीं करते तो ईडी कभी भी मोरीन वाड्रा को पूछताछ के लिए नहीं बुलाती। हालांकि राॅबर्ट वाड्रा की यह बात अच्छी है कि हर जांच एजेंसी के सामने उपस्थित हो रहे हैं। राॅबर्ट वाड्रा को इस पूछताछ को एक आम नागरिक की तरह लेना चाहिए। देश में ऐसे लाखों लोग हैं जो छोटे छोटे कार्यों में धक्के खा रहे हैं। उनकी पत्नी तो चार्टर प्लेन से मिलने आ गई, जबकि करोड़ों देशवासियों को पैसेंजर ट्रेन से भी आरक्षण नहीं मिल रहा है। राजस्थान में तो गुर्जर आंदोलन की वजह से सड़क मार्ग भी बंद पड़े हैं। वाड्रा थोड़ा आम नागरिक की तकलीफों के बारे में भी सोचें।
संतोषजनक उत्तर नहीं दे पाए:
ईडी ने पूछताछ के दौरान वाड्रा से यह जानना चाहा कि कोलायत में जो जमीन खरीदी गई उस राशि का आय का स्त्रोत क्या है? अधिकारियों ने महेश नागर नाम के व्यक्ति के बारे में भी जानकारी चाही। ऐसे सवालों का जवाब वाड्रा की ओर से नहीं मिल पाया। हालांकि अधिकारियों ने दस्तावेज भी दिखाए और दिल्ली में गत 6-7 व 9 फरवरी को हुइ पूछताछ के जवाब भी वाड्रा को बताए। चूंकि 12 फरवरी को वाड्रा ने संतोषजनक जवाब नहीं दिए इसलिए हो सकता है कि पूछताछ का दौर 13 फरवरी को भी जारी रहे। ईडी के सू़त्रों का मानना है कि कोलायत में जमीन खरीदने और फिर करोड़ों में बेचने का मामला लंदन में खरीदी गई सम्पत्तियों से जुड़ा हुआ है रिपोर्ट अशोक पांडेय पत्रकार अमेंठी आजतक मीडिया ,अनिल नीखरा संतोष निरंजन जालौन

aajtakmedia
aajtakmedia
संपादक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *