[t4b-ticker]
उत्तरप्रदेश कालपी जालौन

पैसेंजर ट्रेनों का आवागमन न होने से जनता परेशान।

संपादक – संतोष कुमार निरंजन

कालपी (जालौन) झाँसी – कानपुर रेलवे ट्रैक पर पैसेंजर ट्रेनों का संचालन बंद होने की वजह से यात्रियों को भारी परेशानियों से जूझना पड़ रहा है।

विदित हो कि बीते एक साल पहले कोरोना संक्रमण की वजह से ट्रेनों का संचालन बंद कर दिया गया था। लेकिन बाद मे मेल तथा एक्सप्रेस ट्रेनों को विशेष रेलगाड़ी का दर्ज़ा देकर संचालन शुरू कराया गया है। लेकिन झाँसी लखनऊ तथा झाँसी कानपुर अप एवं डाउन पैसेंजर ट्रेनों को चलाने के लिये रेलवे विभाग के अफसर दिलचस्पी नहीं ले रहे है। संचालित होने वाली विशेष ट्रैन के टिकट भी ऑनलाइन प्राप्त किये जा रहे है। इससे अशिक्षित लोगों को दिक्कतों से जूझना पड़ रहा है। तथा रेलवे स्टेशन कालपी, उसरगांव आदि जगह पर सन्नाटा पसरा रहता है। छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष मलखान सिंह यादव, वरिष्ठ अधिवक्ता राम कुमार तिवारी व्यापारी नेता सुनील पटवा आदि ने बताया कि पैसेंजर ट्रेनों मे ज्यादातर गरीब एवं मध्यम वर्ग के लोग सफर करते है तथा छोटे छोटे स्टेशनो मे उतरते चढ़ते है। रेल मंत्रालय को गरीब वर्ग को सहूलियत प्रदान करना चाहिए। उन्होंने पैसेंजर ट्रेनों को चलाने की मांग उठाई है।

 

मासिक पास की सुविधा है ठप

स्थानीय नगर तथा आसपास के नागरिक एवं सरकारी कर्मचारी रोज़ी रोटी कमाने तथा ड्यूटी करने के लिये कानपुर उरई आदि स्थानों मे रोजाना आते जाते है। कामकाजी लोग रेलवे का दैनिक पास पूरे महीने का बनवा लेते है। इससे सफर काफ़ी सस्ता रहता है। लेकिन मासिक पास की व्यवस्था भी रेल विभाग ने खत्म कर दी है। इससे भी परेशानी बढ़ गयी है।

 

रेलवे स्टेशनो मे पसरा रहता सन्नाटा

लम्बी दूरी की विशेष ट्रेनों का ठहराओ न होने तथा पैसेंजर गाड़ियों का संचालन बंद होने से कालपी एवं आसपास के रेलवे स्टेशनो मे सन्नाटा पसरा रहता है। कालपी के अलावा उसरगांव, आटा, चौरा , लालपुर, बिनौरा, तिलौची, मलासा आदि रेलवे स्टेशनो मे दिनरात लगातार सूनापन बना हुआ है।

Related posts

एसडीएम ने छापा मार सरकारी चावल पकड़ा

9 नवंबर को होगी मंच पर लंका दहन की लीला।

aajtakmedia

गज़ल सम्राट अनूप जलोटा ने गौमाता विषय पर बनने वाली फिल्म के लिए रजामंदी के साथ बधाई दी।

aajtakmedia

Leave a Comment