[t4b-ticker]
Top News उत्तरप्रदेश जालौन

योगीराज मे आय जाति निवास बनवाने के लिए भटक रही विधवा महिला,पिछले 8 वर्ष से कर रही है उत्तर प्रदेश में निवास।

 

ईंटों (जालौन)- एक ओर योगी सरकार जनता की समस्याओं को तुरंत निस्तारण के लिए कटिबद्ध है! परंतु अधिकारी व कर्मचारी उनकी योजनाओं को और उनके उद्देश्यों और इस आशा को बट्टा लगा रहे हैं! एक विधवा महिला जो कि पिछले 8 वर्षों से उत्तर प्रदेश में निवास कर रही है उसका आय जाति निवास प्रमाण पत्र नहीं बनाया जा रहा है! लेखपाल को घूस न देने के कारण उसका आय जाति निवास हेतु आवेदन पत्र पर लेखपाल ने बार-बार गलत रिपोर्ट लगा दी जिससे विधवा महिला के प्रमाण पत्र नहीं बन सके! हद तो तब हो गई जब 1076 पर इस मामले की शिकायत की गई तो लेखपाल के ऊपर के सभी अधिकारियों ने लेखपाल की रिपोर्ट को सही माना और मामले को निस्तारित भी कर दिया जबकि जो साक्षय लगाए गए थे उन्हें दरकिनार कर दिया गया! विधवा महिला सन 2013 से आज तक 8 वर्षों से लगातार ब्लाक कुठौद के ग्राम नवादा में निवास कर रही है! उसका नाम वोटर कार्ड, राशन कार्ड परिवार रजिस्टर में भी दर्ज है! विधवा महिला अपने चार बच्चों के साथ अपने पिता के घर रह कर अपना जीवन यापन कर रही है! राशन कार्ड से अपना कोटा भी लेती है परंतु लेखपाल को घूस न देने के कारण लेखपाल विनोद कुमार ने उसका आय जाति प्रमाण निवास प्रमाण पत्र नहीं बनाया! पिछले 2 महीने से उसको चक्कर लगवा रहे हैं पहले जब 2 अप्रैल को पति के नाम से कागजात ऑनलाइन किये तो लेखपाल विनोद कुमार ने रिपोर्ट लगा दी की कागजात पिता के नाम से बनेंगे! जब विधवा महिला ने अपने पिता के नाम से कागजात बनने डाले तो लेखपाल ने रिपोर्ट लगा दी कि पति का नाम लिखे! जब लेखपाल से इस सम्बन्ध में ग्राम क्षेत्र के सम्भ्रान्त लोगों ने बात की! तो गलत लिख दिया कि गांव में निवास नहीं है जबकि विधवा महिला शशिबाला पिछले 8 वर्षों से ग्राम नवादा में निवास कर रही है और मेहनत मजदूरी करके अपना जीवन यापन कर रही है! नियमानुसार तो उत्तर प्रदेश में यदि कोई व्यक्ति लगभग 3 वर्ष तक निवास कर लेता है तो उसका निवास प्रमाण पत्र आय प्रमाण पत्र संबंधित अधिकारियों द्वारा जारी किया किया जाता है तो आखिर क्या कारण है कि 8 वर्ष निवास करने के बाद भी लेखपाल द्वारा गलत रिपोर्ट क्यों लगाई जा रही है! विधवा महिला ने तहसीलदार माधौगढ प्रेम नारायण प्रजापति से न्याय की व प्रमाण पत्र बनवाने की गुहार लगाई है! देखते हैं तहसीलदार प्रेम नारायण प्रजापति जो कि न्याय प्रिय व अच्छे अधिकारी के रूप में जाने जाते हैं वह विधवा महिला की कितनी मदद करते हैं या उसे अभी और ऑफिस ऑफिस खेलना पडेगा! विधवा महिला पिछड़ी जाति से है घूस न देने के कारण लेखपाल विनोद कुमार द्वारा उसका मानसिक शोषण किया जा रहा है! जबकि लेखपाल महोदय को यह ज्ञात होना चाहिए कि चुनाव में भी किसी महिला प्रत्याशी के लिए पिता का जाति प्रमाण पत्र माननीय निर्वाचन आयोग द्वारा मांगा जाता है तो फिर इस विधवा महिला का जो कि अपने पिता के यहां निवास कर रही है उसका जाति प्रमाण पत्र लेखपाल महोदय द्वारा क्यों जारी नहीं किया जा रहा है! माननीय न्यायालय पुत्र के बराबर पिता की संपत्ति में पुत्री को भी हकदार मानता है तो फिर लेखपाल महोदय द्वारा निवास प्रमाण पत्र क्यों नहीं जारी किया जा रहा है! पिछले 8 वर्ष से जो महिला ग्राम में रहकर अपना जीवन यापन कर रही है तो उसके लिए गलत रिपोर्ट क्यों लगाई जा रही है और उसका आय प्रमाण पत्र जारी क्यों नहीं किया जा रहा है! जबकि नियम यह है कि यदि उत्तर प्रदेश में लगातार तीन वर्ष कोई व्यक्ति रह लेता है तो उसका आय जाति निवास प्रमाण पत्र जारी किया जा सकता है! माननीय योगी जी की मनसा पर जिस तरह अधिकारी कर्मचारी पानी फ़िराकर जनता को परेशान कर रहे हैं और जनसुनवाई व 1076 पर गलत रिपोर्ट लगा रहे हैं! जन प्रतिनिधियो को ध्यान देकर जनता की समस्याओं को हल कराना चाहिए और गलत रिपोर्ट लगाने वालों पर कार्यवाही भी होनी चाहिए!

Related posts

पूर्व बरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी के दो दिवसीय दौरे की कवरेज की जिम्मेदारी राष्ट्रीय गौरक्षा वाहिनी गौ सेवा संघ के प्रदेश मीडिया प्रभारी वीरेंद्र सिंह सेंगर को दी गई।

aajtakmedia

ग्रामीणों ने प्रधान व सचिव के खिलाफ लगाये गंभीर आरोप।

aajtakmedia

नगर के दो ट्यूबवेलों की मोटर फूंकने से गड़बड़ाई जलापूर्ति।

aajtakmedia

Leave a Comment